अंबाह रोजगार मेले में 362 युवक, युवतियों का हुआ चयन

 कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के निर्देशन में जिला परियोजना प्रबन्धक श्री दिनेश सिंह तोमर के प्रयासों से अम्बाह विकासखण्ड मुख्यालय पर रोजगार मेले का आयोजन किया गया। मेले में विभिन्न कंपनियों द्वारा 362 युवक, युवतियों का चयन किया गया है।    

    म.प्र.डे.राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के प्रबंधक दिवाकर शर्मा ने बताया कि रोजगार मेले में 8 कंपनिया डीडीयूजेकेवाय, रोमन टेक्नोलॉजी, सीपेट प्लास्टिक कार्य, एलआईसी सेन्ट आरसेटी संस्था, रोम कम्प्यूटर, मुरैना द्वारा भाग लिया गया। वही वर्चुअल भर्ती (ऑनलाइन भर्ती ) में एसआईएस नीमच, प्रतिभा सिन्टेक्स पीथमपुर, अलीना ऑटो मोबाइल्स मोहाली के माध्यम से भी बेरोजगार युवक, युवतियों का चयन किया गया। रोजगार मेले में लगभग 468 पंजीयन हुये, जिसमें 362 बेरोजगार युवक व युवतियों का चयन किया गया। इस रोजगार मेले में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत अम्बाह श्री ललित चौधरी, जिला पंचायत आजीविका मिशन मुरैना से धर्मेन्द्र सरवरिया (माइक्रो फाइनेंस) व एनआरएलएम अम्बाह से विकासखण्ड प्रबधक दिवाकर शर्मा, दुष्यत शाक्य, मुकेश बुनकर, मदन पाठक व सोनेराम ओझा, प्रकाश शर्मा उपस्थित थे। प्रेरणा महिला सामुदायिक संगठन की अध्यक्ष निर्मला तोमर, सचिव वर्षा तोमर एंव उनकी रोजगार समिति से प्रियंका तोमर, अनामिका तोमर, राधा तोमर,मंजू तोमर के माध्यम से भी रोजगार मेले में पंजीयन एवं काउसंलिग की गई। जिन कंपनियों में चयन हुआ है, उनमें डीडीयूजेकेवाय ने 36, रोमटेक्नोलॉजी ने 57, सीपेटप्लास्टिककार्य ने 18, सेन्ट आरसेटी संस्था ने 41, एलआईसीने 58, प्रतिभा  सीटेंक्स पीथमपुर ने 42, अलीना ऑटोमोबाइल ने 14, एसआईएस नीमच ने 96 ने बेरोजगार युवक, युवतियों का चयन किया।


शाला प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-1 मुरैना में शाला प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में वर्ष 2022 के लिये शिक्षण सत्र के लिये अद्योसंरचना विकास मंच रिनोवेशन एवं विद्यालय में पठन-पाठन हेतु आवश्यक सामग्री क्रय करने एवं विद्यालय का सौन्दर्यीकरण कराये जाने के निर्देश विद्यालय के प्राचार्य एवं सचिव श्री गोपाल सिंह परमार को दिये। बैठक में जिला शिक्षाधिकारी श्री सुभाषचन्द्र शर्मा, जनप्रतिनिधि, पीडब्ल्यूडी प्रतिनिधि, पालक प्रतिनिधि, विद्यालय का स्टाफ आदि उपस्थित थे। 

कलेक्टर के निर्देशन में 5 ऑयल मिल पर छापामार कार्रवाही, अगर मिली मिलावट तो आजीवन कारावास तय , अगर एक्सपायरी डेट का माल तो 5 साल की जेल तय

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के निर्देशन में एसडीएम मुरैना द्वारा मंगलवार को 5 ऑयल मिल प्रतिष्ठानों पर छापामार कार्यवाही की गई। जिसमें खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री अवनीष गुप्ता, श्री धर्मेन्द्र जैन, कु. रेखा सोनी, अनिल परिहार, महेन्द्र सिसोदिया द्वारा सेम्पल की कार्रवाही की गई। जानकारी में बताया गया कि अम्बाह बायपास रोड़ पर आरटी इंडस्ट्रीज प्रोपरायटर पकंज गुप्ता के यहां वर्षा ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, हनुमान ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, रिफायण्ड रायस ब्लेंडेंड ऑयल, इंडस्ट्रीज एरिया मुरैना मे अवध ऑयल मिल प्रोपरायटर अवध गोयल के यहां एग्री ड्राफ्ट्स ब्लेंडेंड ऑयल, सेक्टिव फ्यूचर सरसों तेल, जौरा रोड़, मुरैना श्री कृष्णा इंडिबल ऑयल प्रोपरायटर निशांत गर्ग के यहां लहर ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, नमो ब्राण्ड सरसों तेल, डोमपुरा रोड़ मुरैना पर पवन ऑयल प्रोपरायटर नितिन शिवहरे के यहां बीर चेतक ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, सरसों तेल, एबी रोड़ मुरैना पर आरएस इंडस्ट्रीज प्रोपरायटर आलोक कुलश्रेष्ठ के यहां टाइगर गोल्ड ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल और बालक ब्राण्ड सरसों तेल के सैम्पल लेकर कार्यवाही की गई।

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के निर्देशन में एसडीएम मुरैना द्वारा मंगलवार को 5 ऑयल मिल प्रतिष्ठानों पर छापामार कार्यवाही की गई। जिसमें खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री अवनीष गुप्ता, श्री धर्मेन्द्र जैन, कु. रेखा सोनी, अनिल परिहार, महेन्द्र सिसोदिया द्वारा सेम्पल की कार्रवाही की गई। जानकारी में बताया गया कि अम्बाह बायपास रोड़ पर आरटी इंडस्ट्रीज प्रोपरायटर पकंज गुप्ता के यहां वर्षा ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, हनुमान ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, रिफायण्ड रायस ब्लेंडेंड ऑयल, इंडस्ट्रीज एरिया मुरैना मे अवध ऑयल मिल प्रोपरायटर अवध गोयल के यहां एग्री ड्राफ्ट्स ब्लेंडेंड ऑयल, सेक्टिव फ्यूचर सरसों तेल, जौरा रोड़, मुरैना श्री कृष्णा इंडिबल ऑयल प्रोपरायटर निशांत गर्ग के यहां लहर ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, नमो ब्राण्ड सरसों तेल, डोमपुरा रोड़ मुरैना पर पवन ऑयल प्रोपरायटर नितिन शिवहरे के यहां बीर चेतक ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल, सरसों तेल, एबी रोड़ मुरैना पर आरएस इंडस्ट्रीज प्रोपरायटर आलोक कुलश्रेष्ठ के यहां टाइगर गोल्ड ब्राण्ड ब्लेंडेंड ऑयल और बालक ब्राण्ड सरसों तेल के सैम्पल लेकर कार्यवाही की गई।
 

महिलायें डिग्री तक सीमित न रहें, डिग्री से ऐसे लोंगो को समझाईश दें जो विभाग से योजनाओं से बहुत दूर है - कलेक्टर

 बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अंतर्गत आंगनवाडी कार्यकर्ताओं का उन्मुखीकरण प्रशिक्षण सह कार्यशाला कार्यक्रम आयोजित

बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अंतर्गत आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सीएमसीएलडीपी के छात्र, छात्राओं का उन्मुखीकरण प्रशिक्षण सह कार्यशाला कार्यक्रम का आयोजन कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में मंगलवार को नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में संपन्न हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कलेक्टर ने कहा कि आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सीएमसीएलडीपी डिग्री तक सीमित न रहें, उससे ऐसे लोंगो को समझाईश दें जो विभाग की योजनाओं से बहुत दूर है। कार्यक्रम में संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग, चंबल संभाग मुरैना, श्री डी.के.सिद्वार्थ, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती उपासना राय, सदस्य किशोर न्याय बोर्ड मुरैना श्री राकेश शिवहरे, परियोजना अधिकारी श्री मनीष सिंह, परियोजना अधिकारी श्रीमती सरिता चतुर्वेदी सहित सीएमसीएलडीपी मैंटर्स एवं आंगनवाडी कार्यकतायें एवं सीएमसीएलडीपी के छात्र, छात्रायें उपस्थित थीं।   
    कार्यक्रम का शुभारंभ कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा द्वारा कन्या पूजन (बेटियों की पूजा) कर किया गया। बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के संबंध में संबंधित समस्त प्रतिभागियों को विस्तृत रूप से जिले में बेटियों की घटती संख्या की ओर सभी का ध्यान आकर्षित करते हुये बताया गया कि बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच रखेे तथा समाज में व्याप्त कुरीतियों को समाप्त करने की आवश्यकता पर बल दिया गया एवं उनसे अपील की गयी कि बेटियों के प्रति समाज की जो सोच है उसमें जागरूकता लाने का हरसंभव प्रयास करें। कन्या भ्रूण हत्या एवं शिशु लिंगानुपात में कमी से समाज पर पड़ने वाले दुष्परिणाम के बारे में जनसामान्य में जागरूकता का सृजन करे।
    संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास श्री डी.के. सिद्वार्थ एवं सदस्य किशोर न्याय बोड के श्री राकेश शिवहरे द्वारा कहा गया कि समाज में पुरूष प्रधान मानसिकता व्याप्त है, जिनका त्याग करना आवश्यक है। बालिकायें किसी मायने में किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है, उन्हें अवसर प्रदान करने की जरूरत है। बेटा-बेटी में भेद न करते हुये बेटियों को भी बराबरी से स्वीकार करें तथा उन्हें उनके सभी अधिकार व सम्मान दें, ताकि घट रहे लिंगानुपात में सुधार हो सके।  
    महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती उपासना राय, द्वारा बालिकाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य, सम्मान एवं सुरक्षा विषय पर उपस्थित समस्त प्रतिभागियों को विस्तृत रूप से बताया गया एवं घरेलू हिंसा, बाल विवाह, पोषण स्तर, उदिता योजना, शाला त्यागी बालिकाओं का अधिक से अधिक शाला में प्रवेश दिलाये जाने हेतु प्रेरित किया गया। उनके द्वारा कहा गया कि घरेलू हिंसा होने पर आंगनवाडी कार्यकर्ता पीडित महिला की मदद करे तथा उसे शासन द्वारा संचालित वन स्टॉप सेंटर केन्द्र के बारे में जानकारी प्रदान करें। आंगनवाडी कार्यकर्ता आंगनवाडी क्षेत्र अंतर्गत बाल विवाह होने की स्थिति में नाबालिक बालक, बालिका के परिजनों को उचित समझाईश दे कि बाल विवाह अपराध है इसमें कडी सजा का प्रावधान है तथा बाल विवाह की सूचना तत्काल संबंधित क्षेत्र की पर्यवेक्षक, चाईल्ड लाईन, परियोजना अधिकारी को दी जावे, जिससे बाल विवाह को समय रहते रोका जा सके। बालक, बालिकाओं के पोषण स्तर के संबंध में भेदभाव न हो इसके संबंध में आंगनवाडी कार्यकर्ता अपने क्षेत्र के समस्त नागरिकों को जागरूक करने का काम करे।



शहर के प्रमुख स्थानों पर स्वास्थ्य अधिकारी ने सफाई का जायजा लिया

 स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत नगर निगम मुरैना द्वारा सफाई अभियान पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अभियान के तहत नगर निगम आयुक्त श्री अमरसत्य गुप्ता के निर्देशन में स्वास्थ्य अधिकारी श्री राकेश श्रीवास्तव द्वारा मंगलवार को विभिन्न स्थानों पर सफाई का जायजा लिया। जिसमें स्वास्थ्य अधिकारी श्री श्रीवास्तव ने दोपहर 2 बजे केएस मिल, एबी रोड़, बेरियर चौराहा से पांचबी बटालियन तक साफ-सफाई का जायजा लिया। इस दौरान स्वास्थ्य अधिकारी के नेतृत्व में कुंज बिहारी शर्मा, एसआई चंद्र शेखर के द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर सफाई कार्य का फीडबैक प्रदान किया गया।

अंबाह में 47 बल्क लीटर अवैध मदिरा जप्त : 3 प्रकरण कायम किये गये

 कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के निर्देशन में ब्रत मुरैना, व्रत अंबाह में सोमवार को कुल 3 प्रकरण आबकारी अधिनियम के तहत कायम किये गये, जिसमें लगभग 47 बल्क लीटर अवैध मदिरा जप्त की गई, जप्त मदिरा की अनुमानित कीमत लगभग 7 हजार 700 रूपये आंकी गई।

रोजगार मेला कैलारस में आज

 कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के निर्देशन में 30 दिसम्बर को कैलारस विकासखण्ड मुख्यालय पर रोजगार मेले का आयोजन प्रातः 10 बजे से होगा। जिसमें सभी बेरोजगार युवक, युवतियां रोजगार मेले में पहुंचकर अपने रोजगार के लिये आवेदन कर सकेंगे। जिसमें 4 कंपनियां प्रतिभागी करेंगी। जिसमें डीडीयूजेकेवाय रोमन टेक्नोलॉजी, सीपेट, प्लास्टिक वर्क, एसआईएस (सुरक्षा जवान सुपरवाइजर), एलआईसी, यशस्वी मैनेजमेन्ट, सेन्ट आरसेटी संस्था मुरैना और प्रतिभा सिन्ट्रेंक्स (धागा फैक्ट्री), अलिना ऑटो इंडस्ट्री प्रा.लि. बेरोजगार युवकों का चयन करेंगी।  बेराजगार युवक आठवी, दसवी, बारहवीं पास (आईटीआई उत्तीर्ण को प्राथमिकता) दी जावेगी। बेरोजगार युवकों की उम्र 18 से 35 वर्ष तक होनी चाहिये। समस्त बेरोजगार युवक व युवतियां रोजगार मेले में अपने बीपीएल कार्ड, फोटो, मार्कशीट आदि समस्त दस्तावेज लेकर उपस्थित होंवे। 

शहरी बेघरों को नगर निगम के निःशुल्क वाहन सेवा से आश्रय स्थल पहुंचाया

आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता के निर्देश पर नगर निगम द्वारा दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना के तहत संचालित आश्रय स्थलों में सोमवार को रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, फुटपाथ पर सोने वाले शहरी बेघरों को नगर निगम के निःशुल्क वाहन सेवा से आश्रय स्थल पहुंचाया गया। यह अभियान प्रतिदिन नगर निगम द्वारा संचालित किया जायेगा।  

आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता के निर्देश पर नगर निगम द्वारा दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना के तहत संचालित आश्रय स्थलों में सोमवार को रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, फुटपाथ पर सोने वाले शहरी बेघरों को नगर निगम के निःशुल्क वाहन सेवा से आश्रय स्थल पहुंचाया गया। यह अभियान प्रतिदिन नगर निगम द्वारा संचालित किया जायेगा। 
आयुक्त नगर निगम श्री अमरसत्य गुप्ता के निर्देश पर नगर निगम द्वारा दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना के तहत संचालित आश्रय स्थलों में सोमवार को रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, फुटपाथ पर सोने वाले शहरी बेघरों को नगर निगम के निःशुल्क वाहन सेवा से आश्रय स्थल पहुंचाया गया। यह अभियान प्रतिदिन नगर निगम द्वारा संचालित किया जायेगा। 

जब बात और सवाल उठे तो भ्रम पैदा करने वाला बहाना लगा दिया , असलियत यह है कि नई बसाहट में नहीं , मुरैना शहर से महज एक किलोमीटर के फासले के मूल गांवों और मजरों टोलों तक ही आजादी से अब तक अभी बिजली नहीं पहुंची है

 जिले में छूटी हुई ऐसी बसाहट जिनमें विद्युत संरचना का कार्य नहीं हुआ है के संबंध में स्पष्टीकरण 

विधायकगण एवं ग्रामवासियों के कार्य के संबंध में लगातार शिकायतें प्राप्त हो रहीं है, वस्तुस्थिति यह कि पूर्व संचालित विभिन्न ग्रामीण विद्युतीकरण योजनाओं के अन्तर्गत सेन्सस में सम्मिलित जिले के सभी ग्रामों एवं मजरे टोलों में सघन विद्युतीकरण का कार्य संपादित कराया जा चुका है। ग्रामीण क्षेत्र की ऐसी वसाहट का विद्युतीकरण जो कि गांव से बाहर निर्मित कर ली गई है अथवा खेतों में मकान बना लिये गये है। ऐसे क्षेत्रों के लिये सघन विद्युतीकरण की कोई योजना नहीं है। चूंकि इन बसाहटों पर कृषि पम्प हेतु कृषि फीडर से 10 घंटे विद्युत प्रदाय की जाती है। खेतों में वसे घरों जहां पर कृषि पंप विद्युत कनेक्शन लगें है। वहीं पर आबादी लाइन 24 घंटे का विस्तार करने की तकनीकी साध्यता नहीं है। ऐसे क्षेत्रों में सघन विद्युतीकरण के कार्य हेतु कार्य योजना जिसकी अनुमानित लागत 34.00 करोड़ रूपये है। वरिष्ठ कार्यालय को स्वीकृति हेतु प्रेषित कर दी गई है। वर्तमान में उक्त वसाहटों को विद्युतीकरण हेतु कोई योजना नहीं है।

पंजीकृत गौ-शालाओं को दी जाने वाली दान राशि आयकर मुक्त होगी , दान देने के लिये इस वेबसाइट ( समाचार में उल्लेखित) पर क्लिक करें

 अब पंजीकृत गौशालाओं को दी जाने वाली दान राशि पर आयकर से छूट मिलेगी। उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं ने बताया कि गौ-रक्षा एवं गौ-संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश शासन द्वारा पंजीकृत गौ-पालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड को दी जाने वाली दान राशि को आयुक्त आयकर विभाग द्वारा आयकर में छूट प्रदान की गई है। इसके तहत् पंजीकृत गौ-शालाओं को दी जाने वाली दान राशि भी आयकर मुक्त होगी। शासन द्वारा आमजन द्वारा दिये जाने वाले सहयोग के लिए ऑनलाईन पोर्टल  गौ शाला को दान देने हेतु यहां क्लिक करें शुरू किया गया है जिसके माध्यम से गौ-शालाओं को चारे, पानी, शेड एवं अन्य कार्यों के लिए दान दिया जा सकता है।

भैंस ने सड़क पर गोबर किया, ग्वालियर नगर निगम ने दस हजार रू का जुर्माना लगाया, भैंस मालिक को जमा करना पड़ा जुर्माना

 ग्वालियर, 28 दिसंबर 2020 भैंस ने सड़क पर गोबर किया तो उसका खामियाजा उसके मालिक को भुगतान पड़ा। नगर निगम ने मालिक पर दस हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया। नगर निगम के अफसर मालिक के घर पहुंच गए और अंतत: मालिक को 10 हजार रुपये का जुर्माना भरना पड़ा।

घटना ग्वालियर के सिरौल रोड स्थित डीबी सिटी के पास की है। यहां पर सड़क का काम चल रहा है। इसी दौरान भैंस वहां से निकली और उसने गोबर कर दिया। दरअसल, डीबी सिटी के पास नगर निगम नई सड़क बनवा रहा है। निर्माण कार्य चल रहा था, तभी वहां पास ही रहने वाले बेताल सिंह की भैंस आ गई। भैंस ने सड़क पर गोबर कर दिया। इसके बाद निगमायुक्त संदीप माकिन ने भैंस को सड़क से हटाने के निर्देश दिए। क्षेत्राधिकारी व डब्ल्यूएचओ ने भैंस को हटाने की कोशिश की, लेकिन बहुत कोशिशों के बाद भी भैंस नहीं हटी। तभी वहां भैंस का मालिक बेताल सिंह आ गया। वह भैंसों को हांक कर अपने साथ ले जाने गया।


इस पर निगमायुक्त ने सड़क पर गोबर करवाने पर तत्काल जुर्माना करने का आदेश दिया। इसके बाद क्षेत्राधिकारी मनीष कन्नौजिया व वार्ड स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र धीरज बेताल सिंह के घर पहुंचे और उस पर 10000 रुपये का जुर्माना लगाया है। सड़क पर भैंस द्वारा गोबर करने पर निगम द्वारा 10000 रुपये जुर्माने की कार्रवाई की गई है। यह जुर्माना बेताल सिंह ने निगम में जमा कर दिया है। — मनीष कन्नौजिया, क्षेत्राधिकारी, नगर निगम, ग्वालियर

सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा संबंधी बैठक आज , एल 1 , एल 2 को बाबूओं और कम्प्यूटर आपरेटरों सहित उपस्थित रहने के आदेश

 कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने जिले के समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि प्रायः सीएम हेल्पलाइन की संख्या बढ़ती जा रही है, अधिकारी बाबूओं के भरोसे निराकरण में ध्यान नहीं दे रहे है। इस संबंध में कलेक्टर की अध्यक्षता में 29 दिसम्बर को दोपहर 1 बजे से नवीन कलेक्ट्रेट सभागार मुरैना में सीएम हेल्पलाइन में एल-1, एल-2 अधिकारी अधीनस्थ कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं संबंधित बाबूओं को साथ में लेकर उपस्थित हों। 


सीएमएचओ बुधवार, शुक्रवार, शनिवार स्वास्थ्य सुविधाओं का करें निरीक्षण - कलेक्टर

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरसी बांदिल को निर्देश दिये है कि प्रत्येक शनिवार को संबंधित अनुविभागीय अधिकारी अपनी-अपनी स्वास्थ्य संस्थाओं का निरीक्षण करने पहुंच रहे है, निरीक्षण के दौरान जो भी कमियां पाई जाती है, उनका प्रतिवेदन तत्काल मेरे संज्ञान में लाया जा रहा है। जिन स्वास्थ्य सुविधाओं में कमियां पाई जाती है, उन कमियों को सीएमएचओ पूर्ण करें। मुझे किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाओं में कमियां नहीं मिलनी चाहिये।
    कलेक्टर श्री वर्मा ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये कि जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में बुधवार, शुक्रवार और शनिवार को भ्रमण पर रहेंगे और सभी चिकित्सक नियमित चिकित्सालय में पहुंचें, डॉक्टरों की लापरवाही किसी भी प्रकार से बर्दाश्त नहीं की जायेगी। एसडीएम अम्बाह ने बताया कि महिला डॉक्टर अंबाह में पूरे समय चिकित्सालय में नहीं बैठने की शिकायत की है, सीएमएचओ पहुंचकर जांच पड़ताल करें। 

आजीविका मिशन ( लिवलीहुड ) वर्चुअल मेला का आयोजन जनवरी में नीति आयोग के सह प्रायोजन में दिल्ली में होगा , मिशन से जुड़े एन जी ओ आमंत्रित

 


अधिकारी - कम्प्यूटर ऑपरेटर, बाबूओं के भरोसें न छोड़े सीएम हेल्पलाइन- कलेक्टर के निर्देश

 मुख्यमंत्री की प्राथमिकता है कि सीएम हेल्पलाइन समय पर निराकृत हों, जिससे लोंगो की समस्यायें समय पर हल हो सके। उन्हें अपनी समस्याओं के समाधान में लंबी प्रतीक्षा न करना पड़े। अधिकारी सीएम हेल्पलाइन को कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं बाबूओं के भरोसें न छोड़े, स्वयं कम्प्यूटर पर बैठकर उनका समाधान करें। यह निर्देश कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने सोमवार को टीएल बैठक में समस्त जिलाधिकारियों को दिये। इस अवसर पर एडीएम, सभी एसडीएम, संयुक्त कलेक्टरों सहित समस्त जिलाधिकारी, नगरीय निकायों के सीएमओं एवं जनपद सीईओ उपस्थित थे।        
    कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि संबंधित शिकायत उसी महीने में फोर्स क्लोज नहीं कराई जायें, यह समस्त एचओडी को ध्यान देने की जरूरत है। शिकायत प्राप्त होती है तो उसका जबाव समय-सीमा में प्रस्तुत करें, ऐसी शिकायत जो विभाग से संबंधित नहीं है या विभाग में उसका समाधान नहीं। उस शिकायत को एक माह 20 दिन बाद ही उस शिकायत को फोर्सली क्लोज करावें।    
    कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा है कि 4 जनवरी को सीएम की वीसी है, जिसमें संबंधित एजेण्डे पर अधिकारी पूर्ण तैयारी के साथ अपडेट रहें। जिस विभाग का जो बिंदु है, उसकी जानकारी भी कलेक्टर ने संज्ञान में ली। उन्होंने मध्यप्रदेश में मनरेगा के क्रियान्वयन, प्रदेश में रोजगार मूलक योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति, प्रधानमंत्री शहरी पथ-विक्रेता स्वनिधि योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ-विक्रेता योजना का क्रियान्वयन, नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 की तैयारियों, मध्यप्रदेश में गौ-शालाओं के संचालन एवं प्रबंधन, प्रदेश में खनिज के अवैध उत्खनन की रोकथाम, स्व-सहायता समूहों के आर्थिक सशक्तिकरण के लिये बैंक लिंकेज, मार्केट लिंकेज एवं उनके माध्यम से किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की।

कलेक्टर ने मतदाता सूची में नाम जोड़ने की जानकारी तैयार करने के निर्देश दिये

    कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने कहा है कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु आयोग से प्राप्त नवीन एवं छूटे हुये मतदाताओं की संख्या में 35 हजार 786 है, जिसमें मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु ईआरओ नेट में फीड किये गये फॉर्म की संख्या 23 हजार 878, मतदाता सूची में नाम जोड़ने हेतु नवीन एवं छूटे हुये मतदाताओं की फीडिंग हेतु शेष फॉर्म 6 की संख्या 11 हजार 908 है। जिसका पूर्णतः प्रतिशत मात्र 66.72 हैै। यह स्थिति ठीक नहीं है। सबलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 1903, जौरा में 1454, सुमावली में 2292, मुरैना में 1552, दिमनी में 2863 और अम्बाह विधानसभा क्षेत्र में 1844 नाम जोड़े गये है।

प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि योजनान्तर्गत हितग्राहियों की जानकारी

    कलेक्टर श्री वर्मा ने बताया है कि प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर योजना में शासन द्वारा 10 हजार 959 का लक्ष्य प्राप्त था, जिसमें ऑनलाइन पंजीयन संख्या 11 हजार 546, अपात्र प्रकरणों की संख्या 2 हजार 786, सत्यापित सर्टिफिकेट की संख्या 8 हजार 757, एसआरएन जनरेट की संख्या 7 हजार 402, बैंकों को प्रेषित प्रकरण 7 हजार 624, 28 दिसम्बर तक बैंको द्वारा स्वीकृत प्रकरण 3 हजार 45 तथा बैंको द्वारा वितरण 2 हजार 806 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है। जिसका 25.6 प्रतिशत है।

टीएल बैठक से अनुपस्थित रहने पर डीएफओ अमित बसंत को नोटिस , कलेक्टर नाराज

 कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा द्वारा सोमवार को टीएल बैठक की समीक्षा की जा रही थी, समीक्षा के दौरान डीएफओ श्री अमित बसन्त निक्म अनुपस्थित पाये गये, जबकि पिछली टीएल बैठक में भी डीएफओ कार्यालय से उपस्थित नहीं हुआ। इस कारण वन विभाग की सीएम हेल्पलाइन समीक्षा नहीं हो सकी। कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने नाराजगी जाहिर करते हुये डीएफओ श्री अमित बसंत निक्म को तत्काल प्रभाव से कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है।

जिला युवा उत्सव वर्चुअल का आयोजन 12 जनवरी से होगा ( यूथ कार्निवल )

 भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय युवा उत्सव का आयोजन प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 12 से 16 जनवरी 2021 तक स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिवस ’’राष्ट्रीय युवा दिवस’’ पर किया जा रहा है।     

    मध्यप्रदेश शासन द्वारा इस वर्ष कोविड-19 एवं सीमित बजट की उपलब्धता को दृष्टिगत रखते हुये युवा उत्सव की 18 सांस्कृतिक विधाओं में से मात्र 8 विधाओं को शामिल किया गया है, जिसमें हिन्दुस्तानी गायन (अधिकतम समय-सीमा 5 मिनट), सितार, तबला, गिटार, हारमोनियम, बांसुरी ( अधिकतम समय-सीमा 5 मिनट), एकल नृत्य में भरतनाट्यम एवं कत्थक (अधिकतम समय-सीमा 10 मिनट) का आयोजन किया जाना है। कलाकार, प्रतिभागी अपने आवेदन पत्र के साथ मूलनिवासी, आधारकार्ड, वोटरकार्ड, बोर्ड परीक्षा की अंकसूची की छायाप्रति एवं मूल दस्तावेज तथा 2 फोटो आवश्यक रूप से साथ संलग्न करें। संचालनालय भोपाल द्वारा दिये गये निर्देशानुसार कलाकार प्रतिभागी की आयु 18 से 29 वर्ष के मध्य होनी चाहिये, जिसकी गणना 31 दिसम्बर 2020 से होगी।     
    जिला युवा उत्सव का आयोजन वर्चुअल किया जायेगा। वर्चुअल आयोजन में कलाकार, प्रतिभागी युवा उत्सव के दिशा-निर्देशानुसार अपने प्रदर्शन का वीडियो बनाकर (सी.डी.) सहित अपने मूल एवं छायाप्रति दस्तावेज मूलनिवास, आधारकार्ड, वोटरकार्ड, बोर्ड अंकसूची एवं दो पासपोर्ट फोटो के साथ 29 दिसम्बर को कार्यालयीन समय में डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्टेडियम मुरैना में स्थित कार्यालय में अनिवार्यतः जमा करें। वीडियो (सी.डी.) 30 दिसम्बर 2020 को निर्णायक समिति के समक्ष दिखाई जायेगी। विजेता कलाकार, प्रतिभागी का चयन किया जायेगा। कलाकार, प्रतिभागी की आयु 15 से 29 वर्ष के मध्य होनी चाहिये, जिसकी गणना 31 दिसम्बर 2020 से होगी।
    जिला युवा उत्सव में कलाकार, प्रतिभागी का वीडियो (सी.डी.) निर्णायक समिति के समक्ष दिखाई जाकर, चयन किया जावेगा। जिला युवा उत्सव में वही कलाकार, प्रतिभागी पात्र होंगे, जो पूर्व वर्षों में आयोजित राष्ट्रीय युवा उत्सव में शामिल नहीं हुये होंगे। जिले के इच्छुक कलाकार, प्रतिभागी अधिक जानकारी के लिये कार्यालयीन समय में डॉ. भीरामव अम्बेडकर स्टेडियम में संपर्क कर सकते है तथा अपने आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेजों के साथ-साथ अपनी विधा के प्रदर्शन की सीडी 31 दिसम्बर 2020 तक जमा कर सकते है।

नगर पालिका , नगर निगम , नगर परिषद चुनाव फरवरी के आखरी हफ्ते या मार्च 2021 में और पंचायत चुनाव मार्च - अप्रेल 2021 में होंगें ( होली बाद होगी चुनावों की बहार )

 राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने जानकारी दी है कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा वर्तमान परिस्थितियों का आकलन करने के बाद यह पाया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण में निरंतर वृद्धि तथा जन-स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया सम्पादित किये जाने की स्थिति वर्तमान में नहीं है। अतः भारत के संविधान के अनुच्छेद 243-K एवं 243ZA में प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए नगरीय निकायों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन, नगर परिषद नरवर जिला शिवपुरी को छोड़कर (माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार), 20 फरवरी 2021 के बाद कराये जायेंगे। 

    इसी तरह इन्हीं परिस्थितियों के मद्देनजर त्रि-स्तरीय पंचायतों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन माह फरवरी-2021 के बाद कराये जायेंगे।

अम्बाह विकासखण्ड में रोजगार मेले का आयोजन आज, इन मोबाइल नंबरों पर संपर्क करें

 विकासखण्ड अम्बाह में सभी बेरोजगार युवक, युवतियां रोजगार मेले में 29 दिसम्बर 2020 को जनपद पंचायत अम्बाह में मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के सौजन्य से किया जा रहा है, जिसमें 4 कंपनियां प्रतिभागी करेंगी। जिसमें डीडीयूजेकेवाय रोमन टेक्नोलॉजी, सीपेट, प्लास्टिक वर्क, एसआईएस (सुरक्षा जवान सुपरवाइजर), एलआईसी, यशस्वी मैनेजमेन्ट, सेन्ट आरसेटी संस्था मुरैना और प्रतिभा सिन्ट्रेंक्स (धागा फैक्ट्री), अलिना ऑटो इंडस्ट्री प्रा.लि. बेरोजगार युवकों का चयन करेंगी।     

    बेराजगार युवक आठवी, दसवी, बारहवीं पास (आईटीआई उत्तीर्ण को प्राथमिकता) दी जावेगी। बेरोजगार युवकों की उम्र 18 से 35 वर्ष तक होनी चाहिये। समस्त बेरोजगार युवक व युवतियां रोजगार मेले में अपने बीपीएल कार्ड, फोटो, मार्कशीट आदि समस्त दस्तावेज लेकर उपस्थित होंवे। 
    अधिक जानकारी के लिये श्री दिवाकर शर्मा के मोबाइल नम्बर 7222901831, श्री मुकेश बुनकर के मोबाइल नम्बर 9109105971 और श्री दुष्यंत शाक्य के मोबाइल नम्बर 8770689393 पर संपर्क कर सकते है। यह जानकारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत अम्बाह ने दी है। 

पुन: प्रारंभ होगा माणिकचंद्र वाजपेयी राष्ट्रीय पत्रकारिता पुरस्कार : मुख्यमंत्री चौहान - श्री राजेन्द्र माथुर के नाम पर भी पुरस्कार जारी रहेगा मिंटो हॉल में मामाजी के जन्मशताब्दी वर्ष पर हुआ डाक टिकट अनावरण

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रख्यात पत्रकार मामाजी श्री माणिकचंद्र वाजपेयी मामाजी कर्मयोगी, राष्ट्रभक्त, अहंकार शून्य, सागर-सी गहराई और आकाश-सी ऊँचाई रखने वाले व्यक्तित्व थे। उनके नाम से मध्यप्रदेश सरकार द्वारा ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता के लिए स्थापित राष्ट्रीय पुरस्कार पुनरू प्रारंभ किया जाएगा। पूर्व सरकार द्वारा यह पुरस्कार बंद कर दिया गया था। मध्यप्रदेश सरकार श्री राजेन्द्र माथुर जी के नाम से भी पत्रकारिता पुरस्कार को जारी रखते हुए मामाजी के नाम से प्रारंभ पुरस्कार को पूर्व की तरह प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मिंटो हॉल भोपाल में जनसंपर्क विभाग द्वारा मामाजी माणिकचंद्र वाजपेयी जन्मशताब्दी वर्ष के अंतर्गत डाक टिकट अनावरण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। 

   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर मामाजी के व्यक्तित्व और कृतित्व के संबंध में विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्व. अटल जी भी मामाजी का बेहद सम्मान करते थे। मामाजी के स्वर्गवास के समय अटल जी बहुत द्रवित हुए थे। लाखों कार्यकर्ताओं और सैकड़ों पत्रकारों के लिए मामाजी का समर्पित जीवन प्रेरणापुंज था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गीता से आदर्श मनुष्य के गुणों को श्लोक के माध्यम से उद्धृत करते हुए कहा कि आपातकाल की संघर्ष-गाथा और अन्य ग्रंथों के माध्यम से मामाजी ने अलग पहचान बनाई। उन्होंने अनेक प्रतिभाओं को निखारा। वे सहज, सरल, समर्पित और स्वाभिमानी थे। वे एक असाधारण व्यक्तित्व के धनी थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डाक विभाग और जनसंपर्क विभाग द्वारा मामाजी के जन्म शताब्दी वर्ष पर इस आयोजन को सराहनीय बताया।
   कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए हरियाणा, त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि मामाजी ने पूरा जीवन समाज के लिए जिया। वे प्रेरणा के केन्द्र थे। उन्होंने संगठन को महत्वपूर्ण सेवाएं दीं। आपातकाल में कारावास गये। प्रो. सोलंकी ने कहा कि उनके जीवन की दिशा तय करने में भी मामाजी का योगदान था। "एक भारत श्रेष्ठ भारत" की कल्पना के लिए उन्होंने समर्पित भाव से कार्य किया। उनकी योग्यता को देखते हुए उन्हें डॉ. हेडगेवार प्रज्ञा पुरस्कार भी दिया गया था। मामाजी समाज में वैचारिक परिवर्तन के पक्षधर थे। उन्होंने इस उद्देश्य से निरंतर कार्य भी किया।
   मुख्य वक्ता भारतीय साहित्य परिषद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री श्रीधर पराड़कर ने कहा कि मामाजी ने विशिष्ट कृतियों से अपने असाधारण कृतित्व का परिचय दिया। उन्होंने स्वतंत्रता और देश-विभाजन से विस्थापित हुए समुदायों के करीब 07 हजार व्यक्तियों के साक्षात्कार लेकर अद्भुत ग्रंथ की रचना की। इसके अलावा मध्य भारत की संघ गाथा को भी लिपिबद्ध किया।
   कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्य पोस्ट मास्टर जनरल श्री जितेन्द्र गुप्ता ने कहा कि मामाजी स्व. श्री माणिकचंद्र वाजपेयी द्वारा पत्रकारिता को उच्च आयामों तक पहुंचाने के लिए उनकी स्मृति में डाक टिकट जारी किया गया है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान, प्रो. सोलंकी, श्री पराड़कर ने संयुक्त रूप से डाक टिकट का अनावरण किया।
प्रमुख सचिव जनसंपर्क श्री शिवशेखर शुक्ला, आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदाम खाड़े, संचालक जनसंपर्क श्री आशुतोष प्रताप सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। पत्रकार श्री अक्षत शर्मा, अपर संचालक जनसंपर्क श्री एम.पी. मिश्रा, पूर्व संचालक जनसंपर्क श्री लाजपत आहूजा ने अतिथियों को स्मृति-चिन्ह प्रदान किए।       
इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, पत्रकार, विद्यार्थी और आम नागरिक काफी संख्या में उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री राघवेन्द्र शर्मा और आभार प्रदर्शन श्री कृपाशंकर चौधरी ने किया। कार्यक्रम में राघवेन्द्र शर्मा की पुस्तक भाारत के परमवीर का विमोचन भी हुआ। कार्यक्रम के अंत में सुश्री सुहासिनी और गायन समूह ने राष्ट्र गीत वंदे मातरम् की प्रस्तुति दी।

निर्धारित शर्तों के अधीन मिलता है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ

 केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री सम्मान निधि के तहत 6000 रुपये की राशि एवं मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत 4000 रुपये की राशि का वितरण समय-समय पर कृषकों को किया जा रहा है। केन्द्र सरकार द्वारा 6 इन्स्टालमेंट एवं मुख्यमत्री किसान कल्याण योजना के तहत् एक इन्स्टालमेंट द्वारा कृषकों को राशि का वितरण किया गया है।

    प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत पात्र कृषकों को राशि वितरण किये जाने हेतु केन्द्र सरकार द्वारा मापदंड तय किये गये हैं। मापदंड अनुसार इस योजना के तहत किसान के नाम से भूमि होना चाहिए, यदि कोई व्यक्ति कृषि भूमि का स्वामी है किन्तु वह शासकीय कर्मचारी है या रिटायर हो चुका है रिटायर होकर पेशनधारी है, पेंशन की राशि 10000 रुपये ज्यादा होने पर, मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री है, कृषि भूमि पर अन्य कोई कार्य कर रहा है, बटाई पर दिये गये कृषि भूमि के स्वामी को तथा जो कृषक आयकरदाता है तो ऐसे कृषि भूमि स्वामी को इन योजना का लाभ नही मिल पायेगा। 

सिद्ध नगर फीडर की आज विद्युत सप्लाई बंद रहेगी

 मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लि. के उपमहाप्रबंधक ने बताया है कि 11 केव्ही लाइन पर जज कॉलोनी पर प्रोजेक्ट कार्य होने के कारण 29 दिसम्बर 2020 को सुबह 11 से दोपहर 3 बजे तक 11 केव्ही सिद्धनगर फीडर से संबंधित उपभोक्ताओं की विद्युत सप्लाई बंद रहेगी।

गंदे धुंये और प्रदूषण से परेशान मुरैना शहर , गांधी कालोनी जैसी पॉश कालोनी में रोजाना जहरीले धुंंआ सुबह शाम , मरे कई और गांधी कालोनी की जहरीली हवा से दमा , अस्थमा और खांसी के साथ फेंफड़ों के संक्रमण से मौत की दस्तक

मुरैना 28 दिसम्बर 2020 , ग्वालियर टाइम्स कार्यालय । मुरैना नगर निगम , कहने को तो नगर निगम है , मगर नगर निगम जैसा यहां कुछ भी नहीं , शहर मानों एक छोटा सा गांव और ग्राम पंचायतों जैसा माहौल और आबो हवा । गांवों में कम से कम प्रदूषण को बाहर निकालने के लिये एक स्वच्छंद वातावरण रहता है , मगर मुरैना शहर में प्रदूषण फैलाने वाले तो बहुतेरे सैकड़ों हैं मगर इसके निस्तारण का कोई भी इंतजाम नहीं । 

नरेन्द्र सिंह तोमर ''आनंद'' 

( लेखक सन 2001 से भारत सरकार की एन जी सी - नेशनल ग्रीन कोर्प्स के  तहत मुरैना जिला पर्यावरण क्रियान्वयन एवं पर्यवेक्षण समिति - अध्यक्ष कलेक्टर मुरैना का सदस्य व संचालन समिति का प्रभारी है ) 

यूं तो पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के तहत भी , नगर पालिका (नगर निगम) अधिनियम के तहत भी और मानव अधिकार अधिनियम संरक्षण अधिनियम के तहत भी ,  इसके अलावा एक ऐलान जो नगर निगम मुरैना द्वारा रोजाना किया जा रहा था कि ..... सम्मानीय उपभोक्ताओं ...... अगर इसे मान लें तो उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के तहत भी , शहर में चारों प्रकार के प्रदूषण या इनमें से किसी भी एक प्रकार का प्रदूषण फैलाना केवल अपराध ही नहीं बल्कि नगर निगम द्वारा और जिला प्रशासन द्वारा तुरंत व तत्काल निराकरण किया जाना चाहिये अन्यथा इसमें न्यायालय सम्यक आदेश व प्रभावितों व पीड़ितों को हर्जाना जुर्माना देने का आदेश देगा। 

शहर में सबसे बड़ा प्रदूषण जमीन पर सूखे व गीले कचरे का भी है , तो जल निकासी मल निकासी सहित पेयजल के अस्वच्छ व प्रदूषित वाटर सप्लाई का भी है  । 

वायु प्रदूषण में सबसे खतरनाक और जहरीला प्रदूषण शहर में फैल रहे रोजाना ही सुबह शाम के धुंयें ( गंदे व प्रदूषित ) का है । यह मसला कोई नया नहीं , बल्कि बरसों पुराना है । 

शहर में आ बसे तमाम खेत विहीन  कृषि मजदूर रोजी रोटी के लिये तमाम अवसर खोजने हेतु गरीबी की मार के शिकार तो हैं हीं , किसी न किसी भांति किसी रिश्तेदार के चरण चुंबन कर रहने का आशियाना तो जैसे तैसे या फिर  शहर के आसपास बना बसा लिये हैं , मगर उनका सोशो इकानामिक स्तर व दर्जा अभी भी उसी निम्नतम स्तर पर है और इधर उधर से लकड़ियां तथा अन्य चीजें चोरी चकारी करके वे  अपनी गुजर बसर जैसे तैसे करते हैं , उनके पास खाना पीना बनाने खाने या पशुओं के लिये चारा तैयार करने के लिये एक गैस कनेक्शन तो बहुत दूर की बात , एक स्टोव या कोयले की अंगीठी तक नहीं है , या कहिये कि कोयला या मिट्टी का तेल खरीदने तक के पैसे नहीं है । 

ऐसे लोग सुबह शाम चोरी की गंदे पेड़ पौधों की लकड़ीयां चुराकर चूल्हा और बरोसी जलाते हैं , जिसका प्रदूषित व जहरीला धुंआं सारे मोहल्ले और सारे वायुमंडल में फैलता है । इसके अलावा नकली दवायें सप्लाई करने वाले मेडिकल रिप्रजेंटेटिव और एक्सपायरी डेट की दवायें रखने वाले एम आर उन दवाओं की लंबी चौड़ी खेप रोजाना ही मोहल्ले में जलाते हैं जिससे प्रदूषित धुंआ  सारे ही वायुमंडल को अपने कब्जे में लेकर चारों और मोहल्ले में पसरा रहता है , इसके अलावा कुछ अवैध वाहन और बसें, र्टेक्टर तथा पर्यावरण का सर्टीफिकेट लिये बगैर मोहल्ले में चक्कर लगाते और लेड ( सीसा युक्त ) जहरीला धुंआं मोहल्ले में फैलाते  रहते हैं । 

कुछ आपत्तिजनक व्यावसायिक गतिविधियां मसलन , लकड़ी लोहे का फर्नीचर का काम जो कि रहवासी कालोनियों और मोहल्लों में प्रतिबंधित है , आरी रंदा आदि चलाकर ध्वनि प्रदूषण सहित वातावरण में रजकणों ( डस्ट पार्टीकल्स ) उगलते रहते हैं । 

स्पष्टत: मोहल्ले के रहवासियों में इनकी वजह से तमाम बीमारीयां , संक्रामक बीमारीयां , श्वास लेने में तकलीफ , दमा , अस्थमा , फेंफड़ों के संक्रमण , किडनी संक्रमण और डेमेज जेसी तमाम बीमारीयों के साथ , ध्वनि प्रदूषण से कानों एवं मस्तिष्क से संबंधित तमाम विकार , अवसाद और हृदय रोगों , ब्लड प्रेशर जैसे तमाम रोगों से नित्य ही ग्रस्त होना पड़ता है तथा खांसी एवं फ्लू् जैसे तमाम रोगों का शिकार होना पड़ रहा है ।   

गांधी कालोनी मुरैना यूं तो मुरैना शहर की सबसे पॉश कालोनी और शहर के ऐन बींचोंबीच स्थित है , मगर कतिपय नये निवासियों के कारण अब इसे पॉश कालोनी तो नहीं कहा जा सकता , लेकिन तमाम लोग इन हीं प्रदूषणों के कारण मौत के आगोश में जा चुके हैं , जिसकी फेहरिस्त काफी लंबी है । 

मेरे खुद के माता पिता जब तक जीवित रहे इन्हीं प्रदूषणों के शिकार रहे , और उन्हें सांस लेने में तकलीफ के साथ , खांसी और जल प्रदूषण ने शिकार बनाकर परेशान व तंग रखा , खांसी का मेरी मां का अंतिम दम तक इलाज चला मगर गांधी कालोनी में फैला जहरीला धुंआं उस खांसी को कभी ठीक नहीं होने देता था , अंतत: मां उसी खांसी और उसी जहरीले ध्रुंये का शिकार हो गयी और उसी से उसका स्वर्गवास हो गया । अभी पिता ने भी जब इसी महीने अंतिम सांस ली तो उन्हें भी मुरैना की गांधी कालोनी के धुंये ने मरते दम तक परेशान किया , उन्हें भी सांस लेने में बरसों से यहां तकलीफ होती थी , दम घुटता रहता था , सुबह शाम फैलता धुंआं ऊपर की मंजिल पर बहुत आसानी से पहुंचता और उन्हें परेशान रखता था , प्रदूषित अस्वच्छ और पीने के गंदे पानी ने न केवल उनका डायजेशन सिस्टम ही घ्वस्त किया बल्कि पूरी तरह से किडनी ही डेमेज कर दीं । 

ग्वालियर में उनके मृत्युकाल में जब यह सब जांचें हुईं तो टेस्ट रिपोर्टों ने सारी असलियत खोल कर रख दी , कुल मिलाकर मुरैना की गांधी कालोनी के चारों प्रदूषणों ने उनकी जान ले ली , या दूसरे शब्दों में कहें तो हत्या कर दी । 

हालांकि यह सब हम अपनी पर्यावरण समिति की बैठक में उठाते और इसका स्थाई समाधान भी कर देते , मगर अफसोस एक जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा करीब पर्यावरण समित में करीब 70-80 लाख का फर्जीवाड़ा और घोटाला कर दिया , उसके बाद से 30 मई सन 2002 के बाद इस पर्यावरण समिति की कोई भी अनिवार्य तिमाही बैठक ही नहीं हुई इसलिये इस मुद्दे को सार्वजनिक मंच पर लाना और उठाना अनिवार्य हो गया है , जिससे आम जनता और जिम्मेदार प्रशासनिक अफसर और नेता तथा नगरनिगम इसे जान सके , पहचान सके और इसका स्थाई निराकरण कर सके ।   

उद्योग संचालकों के साथ कलेक्टर की अध्यक्षता में बैठक संपन्न

कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने शनिवार को नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में बानमौर एवं मुरैना शहर के उद्योग संचालकों के साथ बैठक की। बैठक में जिले में प्रस्तावित भावी निवेशकों को उद्योग स्थापना में आ रही कठिनाईयों निराकरण, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम में रोजगार सृजन हेतु सुझाव, नवीन उद्योग नीति पर प्रस्तावित सुझाव और जिले में उद्योगिक निर्यात संवर्धन विशेषकर शहद प्रोसेसिंग एवं विपणन पर संभावित निवेश पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में अपर कलेक्टर श्री उमेशप्रकाश शुक्ला, जीएमडीआईसी, बानमौर एवं मुरैना के उद्योग संचालक उपस्थित थे। 
   

 बैठक में बानमौर उद्योग संचालकों ने कलेक्टर से अनुरोध किया कि बानमौर क्षेत्र के दोंनो ओर अतिक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है, जिसमें छोटे-मोटे रोजगार धंधों वालों ने गुमटियां लगाकर फैक्ट्री के मेन गेटों को भी अवरूद्ध कर दिया है। इसके साथ ही दोंनो तरफ साफ-सफाई भी नहीं होती है। इसके साथ ही बानमौर क्षेत्र के लिये एक फॉ्रम फायरबिग्रेड प्राप्त करने की मांग रखी। इसके साथ ही उन्होंने बानमौर क्षेत्र में एनएचआई से इंडस्ट्रीयल एरिया का बोर्ड लगवाने का अनुरोध किया। इस पर कलेक्टर ने उद्योग संचालकों को आश्वस्त किया कि नगर पालिका बानमौर व राजस्व अधिकारियों के माध्यम से अतिक्रमण हटाया जायेगा और साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जायेगा। फैक्ट्री क्षेत्र में मुख्य सड़क पर स्वागत बोर्ड लगें, इसके लिये एनएचआई से बुलाकर समक्ष में बताया जायेगा। मुरैना में शहद के उत्पादन को ध्यान में रखते हुये इस पर एक कार्यशाला व्यापारियों के साथ करने की बात भी कलेक्टर ने कही। 




किसान और फसल क्रय करने वाले व्यापारी के मध्य अनुबंध प्रपत्र को एसडीएम कार्यालय में सुरक्षित रखा जायेगा

 राज्य सरकार ने नये कृषि कानूनों का लाभ आसानी से किसानों तक पहुंचाने के लिये फैसले लिये हैं। अब किसान और फसल क्रय करने वाली कम्पनी, व्यापारी या व्यक्ति के मध्य होने वाले अनुबंध प्रपत्र को अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व कार्यालय में दस्तावेज के रूप में सुरक्षित रखा जाएगा। ताकि किसान के साथ किसी भी तरह का धोखा नहीं हो सके।

    मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अनुबंध के लिए राज्य सरकार द्वारा एक प्रोफार्मा तैयार किया जा रहा है। जिसमें किसान और फसल क्रय करने वाली कम्पनी के प्रतिनिधि, व्यापारी या व्यक्ति के हस्ताक्षर होंगे तथा इस प्रपत्र को अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व के कार्यालय में सुरक्षित रखा जायेगा।  
    मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि प्रदेश की सभी 313 जनपद पंचायतों में नये कृषि कानूनों की बारीकियों से कृषकों को अवगत कराने और इन कानूनों का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए प्रशिक्षण आयोजित होंगे। ताकि नये कृषि कानूनों के हर पहलू से किसान अवगत होकर फायदा प्राप्त कर सकें। 
    मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के हित में नये कानूनों के लिये की गई पहल के अनुरूप क्रियान्वयन भी प्रारंभ कर दिया गया है। विभिन्न जिलों में किसानों द्वारा मिलों को उत्पादन बेचने के संबंध में लाभकारी मूल्य दिलवाने का कार्य हो रहा है। राज्य सरकार का पूरा प्रयास है कि इनका लाभ अधिकतम किसानों को मिले। किसानों की आय दोगुना करने की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मंशा को पूरा किया जाएगा। मध्यप्रदेश के किसान प्रधानमंत्री जी के साथ है। मध्यप्रदेश में इन कानूनो के संबंध में किसानों के मध्य कोई भ्रम की स्थिति नहीं है।

पथ विक्रेता आत्मनिर्भर योजना में 2 हजार 652 हितग्राहियों को लाभ वितरण

जिला शहरी विकास अभिकरण मुरैना के परियोजना अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि योजनान्तर्गत 22 दिसम्बर तक जिले में 10 हजार 959 में से 2 हजार 652 हितग्राहियों को लाभ वितरण किया गया है। जिसमें नगर पालिका निगम मुरैना में 1278, नगर परिषद अम्बाह में 206, नगर पालिका पोरसा में 207, नगर परिषद सबलगढ़ में 309, नगर परिषद बानमौर में 437, नगर परिषद जौरा में 48, नगर परिषद कैलारस में 149 और नगर परिषद झुण्डपुरा में 18 हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा चुका है। जिले में 24.2 प्रतिशत योजना में लोंगो को लाभ मिल चुका है। 

रोजगार मेले के आयोजन के लिये तिथि निर्धारित

 शासन के निर्देशानुसार मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन मुरैना द्वारा बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये जिले में रोजगार मेले का आयोजन करने की तिथि निर्धारित की गई है। जिला परियोजना प्रबंधक श्री दिनेश सिंह तोमर ने बताया कि रोजगार मेले 29 से 31 दिसम्बर तक विभिन्न स्थानों पर आयोजित किये जायेंगे। जिसमें 29 दिसम्बर को अम्बाह विकासखण्ड मुख्यालय पर, 30 दिसम्बर को कैलारस विकासखण्ड मुख्यालय पर और 31 दिसम्बर को मुरैना विकासखण्ड मुख्यालय पर जनपद सभागार में प्रातः 10 से 4 बजे तक आयोजित किये जायेंगे। मेले में 4 कंपनियां चयन करेंगी। 

भर्ती मरीजों ने डॉ नागेन्द्र ऋषीश्वर की शिकायतें कीं , डॉक्टर्स समय पर वार्डों में राउंड लें अन्यथा होगी कार्यवाही - एस डी एम बाकना ( कोर्ट) ने किया निरीक्षण

चंबल कमिश्नर के निर्देश पर कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा के मार्गदर्शन में जिले की समस्त स्वास्थ्य सुविधाओं का निरीक्षण प्रत्येक शनिवार को करने के निर्देश संबंधित एसडीएम को दिये थे। निर्देशों के तहत एसडीएम मुरैना श्री आरएस बाकना ने शनिवार को जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया।








निरीक्षण के दौरान सभी मरीजों ने समय पर डॉक्टर राउंड नहीं लेने की शिकायत की। निरीक्षण में मरीजों ने डॉ. नागेन्द्र रिशीश्वर के प्रति नाराजगी जाहिर की। प्रसूता वार्ड में महिलाओं को डिस्चार्ज करते समय पलंग पर डिस्चार्ज कार्ड नहीं बनाने से मरीज अप्रसन्नता व्यक्त कर रहे है। उन्होंने कहा कि डिस्चार्ज का कार्ड बिडों पर बनाने से लम्बी-लम्बी लाइन एवं कोरोना को ध्यान में रखते हुये मेटरनिटी वार्ड में पलंग पर डिस्चार्ज कार्ड बनाने की बात कही। निरीक्षण में कई पलंगों पर बैड सीट साफ-सुथरे नहीं पाये गये। निरीक्षण में एसडीएम से जच्चा वार्ड में इंचार्ज द्वारा पैसे लेने की बात कही। इस पर एसडीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुये सिविल सर्जन को निर्देश दिये कि या तो मेटरनिटी के वार्ड प्रभारी को हटा दिया जाये, या इस प्रकार की शिकायतें आगे नहीं मिलना चाहिये। मरीज के साथ एक अटेंडर रहें, तम्बाकू, गुटखा खाने वाले दीवार, जाली पर थूंकते है तो उन पर चालान काटने की कार्यवाही करें।   

नगर निगम आयुक्त ने सफाई व्यवस्था का लिया जायजा 6 सफाई कर्मियों का वेतन राजसात, एक सफाई दरोगा को किया निलंबित


 नगर निगम आयुक्त श्री अमरसत्य गुप्ता ने 26 दिसम्बर को प्रातः 8 बजे निगम के वार्ड क्रमांक 15 टंच रोड़ का निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय स्वास्थ्य अधिकारी श्री राकेश श्रीवास्तव, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी श्री केशव सिंह उपस्थित थे। नगर निगम आयुक्त श्री गुप्ता ने भ्रमण के समय 6 सफाई संरक्षक अनुपस्थित पाये, जिनका एक दिन का वेतन राजसात करने तथा वार्ड क्रमांक 15 के सफाई दरोगा श्री कृष्ण राठौर बिना सूचना के अनुपस्थित थे। स्वास्थ्य अधिकारी श्री राकेश श्रीवास्तव ने निलंबन के लिये कार्यवाही की है। भ्रमण के समय मुन्नालाल एवं एसआई श्री विजय धौलकर भी उपस्थित थे।

नगरीय निकायों का निर्वाचन के दौरान मतदान का समय रहेगा शाम को 6 बजे तक

 मध्यप्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर नगरीय निकायो के निर्वाचन के दौरान मतदान की समयावधि में एक घण्टे की बढ़ोत्री की है। अब अगामी समय में होने वाले निर्वाचन के दौरान मतदान का समय प्रातः 7 से शाम 6 बजे तक रहेगा। जबकि पूर्व में यह समय प्रातः 7 से शाम 5 बजे तक रहता था।

पटवारी - धनेला सस्पेंड हुआ - पीएम, सीएम किसान सम्मान निधि योजना में कृषकों के पंजीयन का वैरिफिकेशन तुरंत नहीं किया तो सख्त कार्यवाही भी तत्काल होगी - कलेक्टर वर्मा

शतप्रतिशत पूर्ण न करने पर धनेला पटवारी तत्काल प्रभाव से निलंबित- कलेक्टर, मुरैना अनुविभाग के अंतर्गत पटवारियों की बैठक संपन्न 

केन्द्र व राज्य सरकार की प्राथमिकता वाली योजनाओं पर अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी ये निर्देश कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने नवीन कलेक्ट्रेट भवन में शनिवार को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व अधिकारी एवं पटवारियों को दिये। इस अवसर पर उन्होंने पीएम किसान योजना में किसानों के शतप्रतिशत डाटा का वैरिफिकेशन नहीं करने पर धनेला के पटवारी उदयभान सिंह तोमर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। वहीं सुरजनपुर के पटवारी को चेतावनी बतौर तीन दिवस के अंदर योजना के लक्ष्य को पूर्ण करने के निर्देश पटवारी को दिये हैं। इसके अलावा 90 प्रतिशत से कम प्रोग्रेस देने वाले 44 पटवारियों को कारण बताओ संबंधी नोटिस जारी करने के निर्देश एएसएलआर को दिये। इस अवसर पर अपर कलेक्टर उमेश प्रकाश शुक्ला, एसडीएम आरएस बाखना, तहसीलदार सहित मुरैना अनुविभाग के समस्त आरआई पटवारी, उपस्थित थे। 
    कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने समस्त राजस्व अधिकारी एवं पटवारियों को निर्देश दिये कि केन्द्र व राज्य सरकार की प्राथमिकता वाली पीएम किसान एवं सीएम किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 10 हजार रूपये प्रतिवर्ष दिये जाने हैं। जिसमें प्रधानमंत्री द्वारा 6 हजार रूपये और मुख्यमंत्री द्वारा 4 हजार रूपये ऑनलाइन खाते के माध्यम से डाले जा रहे हैं। इस योजना में अधिकतर सभी किसान शामिल होंगे। ऐसे किसान जो इनकम टेक्स देते है, 10 हजार से ऊपर पेंशन प्राप्त करते है तथा शासकीय सेवक है, उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना में लाभ लेने वाले कृषक अपनी खेती को फायदे का धंधा बनाने के लिये उन्हें खाद बीज या छोटी मोटी आवश्यकता की पूर्ती के लिये ये 10 हजार रूपये उनके काम आयेंगे। जब आवश्यकता होगी वह एकमुश्त अपनी फसल को बेचेगा तब उसे वास्तव में खेती से प्राप्त होने वाली आय खेती का लाभ का धंधा साबित होगी।   
    कलेक्टर ने कहा कि जिन पटवारियों ने 90 प्रतिशत से पीएम किसान सम्मान, सीएम किसान सम्मान निधि योजना में लक्ष्य से कम से कम काम किया है, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। मुरैना अनुविभाग में ऐसे 44 पटवारी हैं जिन्होंने 90 प्रतिशत से कम पोर्टल पर प्रगति दिखाई है, जिनमें पिपरई, दतहरा, गंजरामपुर, इमलिया, हिंगौनाकला, लालौर, बिजौलीपुरा, घुरघान, पलपुरा हल्का के पटवारियों ने 89, हासईमेवदा, मृगपुरा, जौराखुर्द, मसूदपुर, मैथाना, जारह, खबरौली, दतहरा, नगरा, छोंदा हल्का के पटवारियों ने 88 प्रतिशत, मीरपुर, बरेथा, छिछावली हल्का के पटवारियों ने 87 प्रतिशत, हेतमपुर, निवी, बंधा, जखोना, अजनौधा हल्का के पटवारियों ने 86 प्रतिशत, महाराजपुर, पचौखरा, मसूदरपुर हल्के के पटवारियों ने 85 प्रतिशत, सिरमिती, जतवार का पुरा, मिरघान हल्का के पटवारियों ने 84 प्रतिशत, नावली, बडागांव, मुडियाखेरा, बिजौलीपुरा हल्का के पटवारियों ने 83 प्रतिशत, नावली बडागांव, करारी हल्का के पटवारियों ने 82 प्रतिशत, करारी के पटवारी ने 81 प्रतिशत, पढावली के पटवारी ने 80 प्रतिशत, रिठौराखुर्द, भानुपर हल्का के पटवारी ने 77 प्रतिशत और सुरजनपुर के पटवारी ने 76 प्रतिशत पोर्टल पर प्रगति दिखाई है। इन पटवारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

    वहीं बैठक के दौरान कलेक्टर ने सभी पटवारियों को यह भी निर्देश दिये है कि नामान्तरण बटवारा जैसे पेडिंग कार्य पटवारी समय पर निराकरण करें, मेरे द्वारा अगले माह रेण्डम किसी भी हल्का में पहुंचकर वी-1 का वाचन कराया जायेगा। जिस पटवारी का काम अच्छा मिलेगा उसे प्रोत्साहित किया जायेगा और जिन पटवारियों का कार्य संतोषजनक या नामान्तरण, बटवारे के आवेदन मुझे प्राप्त हुये तो उन पटवारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाही की जायेगी। कलेक्टर ने पटवारियों को निर्देश दिये कि पीडीएस की दुकान पर कालाबाजारी, पात्रता पर्ची का शतप्रतिशत वितरण और पात्रतापर्ची धारकों को शतप्रतिशत राशन वितरण हो, यह सुनिश्चित किया जाये। कलेक्टर ने कहा कि रबी फसल के लिये सरसों का बेरिफिकेशन होगा, इसमें सभी पटवारी बेरिफिकेशन करने से पूर्व प्रत्येक किसान के खेत में यह भी देंखे कि उस किसान ने खेत में सरसों बोई है कि नहीं, तभी उसे बेरिफाई करें। ऐसा न हो कि पोरसा का किसान पहाडगढ़ में पंजीयन दिखा रहा हो।  

नीचे दी वेबसाइट पर आनलाइन किसान प्रधानमंत्री मानधन योजना के लिए करे आवेदन, मगर वैरिफिकेशन और अप्रूव कब होगा बस ये मत पूछिये

 भारत सरकार की प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2 हैक्टेयर भूमि तक के कृषकों, जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष तक है, के लिये लागू की गई है। योजना के अन्तर्गत आयु अनुसार प्रीमियम की राशि निर्धारित है जो कि 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक मासिक योगदान राशि 55 से 200 रूपये तक है।

   आवेदक 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के पश्चात प्रतिमाह 3 हजार रूपये पेंशन का हकदार होगा। पेंशन योजना का लाभ लेने हेतु किसान को कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जो कि लगभग समस्त विकासखंडों में है, पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। रजिस्ट्रेशन हेतु खसरा, खतौनी की नकल, आधार कार्ड, 2 फोटो और बैंक पासबुक की जरूरत होगी। इस हेतु कृषक को कोई फीस नही देनी है। कृषक, पोर्टल पर स्वयं भी आवेदन कर सकता है। योजना के विस्तृत प्रावधान की जानकारी प्राप्त करने हेतु कृषक कृषि विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों से संपर्क कर सकते है।

किसान मानधन योजना के आवेदन के लिये यहां क्लिक करें

ढ़ाई वर्ष की रिचा सरकारी खर्च से कुपोषण से हुई मुक्त - एक गरीब की कहानी सरकारी कृपा पाकर बेहाल बिटिया हुई निहाल

ढाई वर्ष की नन्ही बेवी रिचा अब कुपोषित नहीं रही। पोषण पुनर्वास केन्द्र मुरैना में भर्ती करके, सरकारी खर्च पर उसका गहन उपचार किया गया, अब वह पूरी तरह से स्वस्थ्य हो गई है। रिचा का उपचार डॉ. कुशवेन्द्र सिंह की देखरेख में हुआ। 
    मुरैना के प्रेमनगर निवासी रिचा के पिता श्री रामनिवास जाटव ने बताया कि नन्ही ढाई वर्ष की रिचा कुपोषित होने के कारण पूरा परिवार बहुत परेशान था। मेरे लिये मजदूरी करके दो जून की रोटी कमाना मुश्किल है, ऐसे में बेटी की कुपोषण की स्थिति को देखकर, ऐसा लगता था कि बेटी बच पायेगी या नहीं।   
    रामनिवास जाटव ने बताया कि एक दिन मेरी पत्नि श्रीमती पाचोबाई की चर्चा आंगनवाडी कार्यकर्ता से हुई। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने बच्ची को सीधे पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती करा दिया, जहां बच्ची का बजन लेने पर बच्ची 7 किलो 100 ग्राम पाई गई। बांह का नाप 11.4 सेन्टीमीटर, हाइट ग्रेड 76 सेन्टीमीटर पाई गई। 
    बच्ची रिचा का प्रतिदिन सरकारी खर्च पर गहन उपचार किया गया। पोषण पुनर्वास केन्द्र मुरैना पर बच्ची को दवाईयों के साथ दूध पाउडर, स्पेशल फूड और उचित पोषण आहार दिया गया। दिनांक 21 सितम्बर से 26 सितम्बर 2020 तक बच्ची का बजन 8 किलो 200 ग्राम हो गया, वांह का नाप 11.4 के स्थान पर 11.6 सेन्टीमीटर और ग्रेड  हाइट 76 सेन्टीमीटर से 76.5 सेन्टीमीटर हो गई। जो कुपोषण की श्रेणी से ऊपर है। अब बच्ची रिचा पूरी तरह स्वस्थ्य होकर हंसती खेलती है। सरकार द्वारा पोषण पुनर्वास केन्द्र में बच्ची का किया गया उचित उपचार से मैं और मेरी पत्नि पाचोबाई बहुत खुश है। हमारा एक पैसा भी खर्च नहीं हुआ। वास्तव में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की स्वास्थ्य योजनायें गरीबों, बेसहारा लोंगो के लिये बहुत ही उपयोगी साबित हो रही है।   

समेकित बाल संरक्षण योजना अन्तर्गत जिला स्तरीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला आयोजन आज 28 दिसम्बर को मिलन महल ( मिलन पैलेस) में होगा

 किशोर न्याय (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण अधिनियम, 2015 एवं नियम 2016 तथा समेकित बाल संरक्षण योजना अंतर्गत जिला स्तरीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन 28 दिसमबर को प्रातः 11 बजे से मिलन पैलेस, गर्ल्स स्कूल रोड़ मुरैना में किया जायेगा।

एनीमिया पर अंकुश लगाने के लिये सभी की सहभागिता जरूरी - कलेक्टर वर्मा

एनिमिया की व्यापकता को दृष्टिगत रखते हुए एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम के अंतर्गत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा सहयोगी विभागो महिला एवं बाल विकास विभाग एवं शिक्षा विभाग के समस्त जिला एवं ब्लॉक अधिकारीयों का एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा की अध्यक्षता में गत दिवस नवीन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मुरैना में हुआ। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.सी. बांदिल, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्रीमती उपासना राय, एन.आई. के संभागीय समन्वयक ग्वालियर संभाग मिर्जा रफीक वेग सहित स्वास्थ्य व महिला बाल विकास एवं शिक्षा विभाग के समस्त जिला एवं ब्लॉक अधिकारीगण उपस्थित थे।              
    कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने अधिकारियों निर्देश देते हुये कहा है कि एनिमिया एक जनव्यापि स्वास्थ्य समस्या है, जिसके निपटाने एवं अंकुश लगाने में समस्त विभागों को एक जुटता के साथ कार्य सम्पादित करना होगा। जिसमें सभी की भागीदारी जरूरी है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम की सफलता हेतु यह आवश्यक है कि हितग्राहियों को आयरन टेबलेट के फायदों के बारे में पता हो, और वह इसका नियमित शेवन करें जिसके लिये सर्वप्रथम हमकों यह सुनिश्चित करना होगा की जमीनी स्तर पर हर समय कम से कम दो माह हेतु आयरन टेबलेट्स उपलब्ध रहें साथ ही उनका सही मात्रा में वितरण हो एवं कार्य की रिपोर्टिंग गुणवत्तापूर्ण एवं समयानुसार हो। उन्होंने कहा कि समस्त ब्लॉक प्रतिमाह निपि कॉर्डिनेशन कमेटी की वैठकों का आयोजन कर कार्यक्रम की प्रोग्रेस पर निगरानी रखें। जमीनी कार्यकर्ता हितग्राहियों को खान-पान आदि की सलाह भी प्रदान करें। 
    एन.आई. के संभागीय समन्वयक ग्वालियर संभाग मिर्जा रफीक वेग ने कार्यक्रम का प्रशिक्षण प्रदान करते हुये बताया की खून में यदि हिमोग्लोबिन की मात्रा एक निश्चित मापदंड से कम हो जाती है, तो विभिन्न अंगों में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो पाती है, जिससे शरीर में कई व्याधियां उत्पन्न होने लगती है, जिसे रक्त अल्पता या एनीमिया कहा जाता है। इससे वचाव हेतु यह अत्यन्त आवश्यक है कि हम अपने खानपान का हमेशा ध्यान रखें एवं खानपान में सभी प्रकार के अनाज,हरे पत्तेदार सब्जियां, स्थानीय व मौसमी सब्जी, फल,सभी प्रकार की दालें, अंकुरित दालें, गुड़, चना, मूंगफली आदि को सम्मलित करना चाहिए साथ हीं विटामिन-सी युक्त भोजन (नीम्बू, आंवला, संतरा, अमरुद आदि) करने से ऐसे भोज्य पदार्थ जिनमें फायितिक एसिड अधिक है, उन्हें भिगोकर, अंकुरित करके या उनमें खमीर उठाकर खाने से शरीर में आयरन की पूर्ति होती है साथ ही खाने के तुरंत बाद चाय या कॉफी के सेवन से बचना चाहिए।
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.सी. बांदिल ने बताया की वर्तमान में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आशा कार्यकर्ता एवं आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के सहयोग से 6 वर्ष से 59 माह बच्चें हेतु आयरन सीरप एवं 5 से 10 साल के वच्चों हेतु आयरन की पिंक टेबलेट एवं किशोरी बालक, बालिकाओं को आयरन की नीली टेबलेट प्रदान की जा रही है, जिनका नियमित शेवन अत्यन्त आवश्यक है। कार्यक्रम को महिला एवं बाल विकास अधिकारी एवं जिलाशिक्षा अधिकारी ने भी सम्बोधित किया। बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी श्री अजय गोयल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्री शंकर प्रसाद श्रीवास्तव सहित समस्त जिला एवं ब्लॉक अधिकारियों ने प्रतिभागीता की। 

सभी शासकीय कार्यक्रमों का आरंभ बेटियों की पूजा से होगा,गौ पूजा भी अनिवार्य कर देते तो बहुतेरी समस्यायें खुद ही सुलझ जातीं , मगर गायों का व उसके परिवार का वोट होता तो जरूर हो जाती

उप सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग, श्री डी के नागेंद्र ने शासन के समस्त विभाग प्रमुखों को निर्देश जारी किए हैं कि सभी शासकीय कार्यक्रमों का आरंभ बेटियों की पूजा से किया जाए। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा अनुसार शासन द्वारा समस्त विभाग प्रमुखों को उक्त निर्देश जारी किए गए हैं।
 

कुछ ऐसा हुआ गजब कि हर आम आदमी सोचेगा कि काश वह विधायक सत्ता दल का होता , तो हर नेता अफसर उसके द्वार तक तो आता

 नरेन्द्र सिंह तोमर ''आनंद'' 

( एक तात्कालिक रचना ) 

हर आम आदमी के नसीब में नहीं कि हर अफसर नेता उसके द्वार तक आये 

कि उसकी आंखें सूख गईं रोते रोते कि काश् राजा लोग उसकी देहरी देंखें 

मगर नहीं आम इंसा के भूख और जमीर की कोई यहां तवज्जुह, यहां उगते सूरज को लोग सलाम करते हैं 

मरने को तो मरते हैं यहां आम लोग जानवरों की तरह , कोई भूख से , कोई बेगारी से 

कोई मरा लाचारी से तो कोई मरा तन्हाई से , किसी की मौत हुई यहां इंतजारी से 

मगर न जिंदा रहते कोई गम बांटने आया , न कोई मरने के बाद आंसू बहाने, ढाढ़स बंधाने 

जब मरा मेरे इलाके के सत्तादल के विधायक का एक पूरखा , तो क्या अफसर क्या नेता 

सबके सब अंधे हुये भूले अपनी अपनी कुरसी के और पदों के रिवाजो आलम 

बस दौड़ते गये , दौड़ते गये जैसे उनका रिश्ता हों जन्म जन्मांतर का 

बस सिर झुकाये , दंडवत किये जैसे उनकी अपनी मां ही चली गयी इस दुनिया से 

उन सब ने मिलकर मारा कुछ ऐसा करारा तमाचा आम जनता के मुंह पर 

कि अब हर आदमी ही कहता और चाहता है कि काश वह भी सत्तादल का विधायक होता ।   

61 अवैध हीटर जप्त, 157 अवैध हुकिंग निकाली एवं 37 के कनेक्शन काटे बिजली कंपनी ने अभियान के दूसरे दिन आधा दर्जन मोहल्लों में की कार्रवाही

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर 

  मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लि. मुरैना के महाप्रबंधक श्री अमरेश शुक्ला के निर्देशन में अवैध हीटर जप्ती अभियान महिला दल के साथ चालू कर दिया गया है। विद्युत वितरण कंपनी द्वारा हीटर जप्ती अभियान में प्रत्येक जोन में टीम गठित की गई है। प्रत्येक टीम में 3 महिलायें, 10 एक्स आर्मी के साथ 5 टीमें गठित की गई है।          
    महाप्रबंधक श्री शुक्ला ने बताया कि 11 केव्ही लाईनों पर लोड़ बढ़ रहा है। इससे विद्युत उपभोक्ताओं को बिजली बिल प्रदाय में व्यवधान हो रहे है। सर्दी बढ़ने के साथ-साथ 11 केव्ही लाईनों पर हीटर चलने की वजह से लोड़ बढ़ गया है। हीटर जप्ती विशेष चैकिंग अभियान गुरूवार को चलाया गया। जिसमें 61 हीटर जप्त किये गये है, जबकि 157 हुकिंग निकाली और 37 कनेक्शन काटने की कार्यवाही की गई। बकाया राशि स्थल पर ही 15 लाख रूपये जमा कराये गये है।   
    जिन क्षेत्रों से अवैध हीटर जप्त किये है, उनमें दुर्गापुरी कॉलोनी, कब्रिस्तान, सींगपुरा, अहमद नगर, इस्लामपुरा, सिंघल बस्ती और काजी कुआ से अवैध हीटर जप्त किये गये है। इन जगहों पर अवैध रूप से बिजली हीटर का उपयोग किया जाना पाया गया है। अभियान प्रारंभ करते समय अवैध तारों को काटा गया एवं डोर टू डोर घरों की जांच करते समय हीटर भी जप्त किये गये। विद्युत कनेक्शन काटे जा रहे है। इस विशेष अभियान के बिजली चोरो द्वारा महिलाओं को ढाल बनाकर आगे करके विभाग की कार्रवाही में बाधा उत्पन्न करने का प्रयास किया जाता है। ऐसी समस्या ना आये इसलिये कंपनी द्वारा अभियान में महिला दल को साथ रखकर वीडियों बनाते हुये कार्यवाही की जा रही है।    
    यह कार्यवाही महाप्रबंधक श्री अमरेश शुक्ला ने मार्गदर्शन में की जा रही है। श्री शुक्ला ने अपील की है कि उपभोक्ता हीटर का उपयोग करना चाहते है, वे अपने मीटर के माध्यम से हीटर का उपयोग करें। बिजली की लाईनों पर अवैध रूप से हीटर पाये जाने पर विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135 के तहत केस बनाये जायेंगे। इसके साथ ही उपभोक्ता अपने विद्युत बिल की बकाया राशि तुरंत जमा करें, यदि जमा कर दी गई है तो जमा रसीद की प्रति चैकिंग दल के मांगे जाने पर उन्हें उपलब्ध करायें। कनेक्शन विच्छेदन एवं विद्युत अधिनियम की कार्यवाही की असुविधा से बचें।

लगातार चार दिन चार रात से मुरैना की बिजली गोल , सूचना के अधिकार के आवेदन से झल्लाये बिजली वाले और बौखलायी बिजली कंपनी

 कल दिया गया सूचना का अधिकार का आवेदन  आवेदन अंतर्गत धारा  6 , सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 Through E Mail And By Speed Post Signaured Copy ...