मुरैना में विशेष सशस्त्र बल के कमांडेंट विनीत कुमार जैन ने जवानों और कर्मियों के साथ , नारी सम्मान और नारी अपराध रोकथाम पर बच्चों के लिये तमाम कार्यक्रम आयोजित किये

पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता अभियान 11 जनवरी, 2021 से संपूर्ण मध्यप्रदेश में प्रारंभ किया गया है। माननीय श्री शिवराज सिंह चौहानमुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिनांक 11.01.2021 को भोपाल में इसका शुभारंभ किया गया। इसी तारतम्य में इस इकाई में दिनांक 20.01.2021 से लगातार 05वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बलमुरैना द्वारा वाहिनी के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों एवं वाहिनी के परिवार की महिलाओं, बालक-बालिकाओं के लिए महिला अपराध जागरूकता हेतु विभिन्न प्रतियोगिताओं द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें आज दिनांक 23-01-2021 को प्रातः 11-00 बजे निबंध प्रतियोगिता "नारी शक्ति एवं समानता" से संबंधित विषयों पर आयोजित की गई, एवं दोपहर 03-00 बजे इन्हीं से संबंधित विषयों पर वाद-विवाद प्रतियोगिता भी आयोजित की गई, जिसमें बालक-बालिकाओं द्वारा बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया गया। उपरोक्त कार्यक्रम में सेनानी विनीत कुमार जैन एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारियों के मार्गदर्शन एवं उपस्थिति में बच्चों को प्रोत्साहित किया गया। प्रतियोगिता के अंत में स्वल्पाहार एवं चॉकलेट का वितरण भी सेनानी के द्वारा किया गया 


पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता अभियान 11 जनवरी, 2021 से संपूर्ण मध्यप्रदेश में प्रारंभ किया गया है। माननीय श्री शिवराज सिंह चौहानमुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिनांक 11.01.2021 को भोपाल में इसका शुभारंभ किया गया। इसी तारतम्य में इस इकाई में दिनांक 20.01.2021 से लगातार 05वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बलमुरैना द्वारा वाहिनी के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों एवं वाहिनी के परिवार की महिलाओं, बालक-बालिकाओं के लिए महिला अपराध जागरूकता हेतु विभिन्न प्रतियोगिताओं द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें आज दिनांक 23-01-2021 को प्रातः 11-00 बजे निबंध प्रतियोगिता "नारी शक्ति एवं समानता" से संबंधित विषयों पर आयोजित की गई, एवं दोपहर 03-00 बजे इन्हीं से संबंधित विषयों पर वाद-विवाद प्रतियोगिता भी आयोजित की गई, जिसमें बालक-बालिकाओं द्वारा बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया गया। उपरोक्त कार्यक्रम में सेनानी विनीत कुमार जैन एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारियों के मार्गदर्शन एवं उपस्थिति में बच्चों को प्रोत्साहित किया गया। प्रतियोगिता के अंत में स्वल्पाहार एवं चॉकलेट का वितरण भी सेनानी के द्वारा किया गया 

पुलिस मुख्यालय से प्राप्त निर्देशानुसार महिला अपराधों में कमी लाने के लिए जागरुकता अभियान 11 जनवरी, 2021 से संपूर्ण मध्यप्रदेश में प्रारंभ किया गया है। माननीय श्री शिवराज सिंह चौहानमुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिनांक 11.01.2021 को भोपाल में इसका शुभारंभ किया गया। इसी तारतम्य में इस इकाई में दिनांक 20.01.2021 से लगातार 05वीं वाहिनी विशेष सशस्त्र बलमुरैना द्वारा वाहिनी के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों एवं वाहिनी के परिवार की महिलाओं, बालक-बालिकाओं के लिए महिला अपराध जागरूकता हेतु विभिन्न प्रतियोगिताओं द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें आज दिनांक 23-01-2021 को प्रातः 11-00 बजे निबंध प्रतियोगिता "नारी शक्ति एवं समानता" से संबंधित विषयों पर आयोजित की गई, एवं दोपहर 03-00 बजे इन्हीं से संबंधित विषयों पर वाद-विवाद प्रतियोगिता भी आयोजित की गई, जिसमें बालक-बालिकाओं द्वारा बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया गया। उपरोक्त कार्यक्रम में सेनानी विनीत कुमार जैन एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारियों के मार्गदर्शन एवं उपस्थिति में बच्चों को प्रोत्साहित किया गया। प्रतियोगिता के अंत में स्वल्पाहार एवं चॉकलेट का वितरण भी सेनानी के द्वारा किया गया 

बड़ोखर में गांजा तस्कर श्यामबिहारी, रामबिहारी पुत्र हरिओम शर्मा का जिला प्रशासन ने भवन तोड़ा

कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन के निर्देशन में राजस्व एवं नगर निगम की टीम द्वारा बड़ोखर स्थित वार्ड क्रमांक-2 में गांजा तस्कर श्यामबिहारी, रामबिहारी पुत्र हरिओम शर्मा का भवन तोड़कर जिला प्रशासन ने बहुत बड़ी कार्रवाही की है। कार्रवाही के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार पाण्डेय, अपर कलेक्टर श्री उमेशप्रकाश शुक्ला, नगर निगम कमिश्नर श्री अमरसत्य गुप्ता, एसडीएम श्री आरएस बाकना, सीएसपी सुश्री प्रियंका मिश्रा सहित बड़ी संख्या में राजस्व, पुलिस फोर्स उपस्थित था।   
    विदित है कि विगत 14 दिसम्बर 2020 को शंकरपुरा पोरसा मुरैना निवासी रामबिहारी, श्यामबिहारी पुत्र हरिओम शर्मा द्वारा 794.8 किलो गांजा तस्करी कर ले जाया जा रहा था, जिसकी कीमत 1 करोड़ 58 लाख 96 हजार रूपये बताई गई है। उक्त घटना के संबंध में पुलिस द्वारा संबंधित व्यक्ति के खिलाफ 14 दिसम्बर 2020 को एफ.आई.आर. दर्ज की गई थी, किन्तु आरोपी उसी रात से फरार था। यह सब जानकारी कलेक्टर के संज्ञान में पहुंची तो कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने तत्काल मुरैना स्थित वार्ड क्रमांक-2 पॉलीटेक्निक कॉलेज के समीप अनुमानित 50 लाख रूपये की लागत का मकान ध्वस्त कर दिया। यह कार्रवाही जिला प्रशासन द्वारा गुरूवार को प्रातः 11 बजे की गई। 

बैंकर्स शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में कोताई न बरतें - जिला पंचायत सीईओ

मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाली योजना स्ट्रीट वेण्डर स्क्रीम से संबंधित अन्य हितग्राही मूलक योजनाओं में बैंकर्स ऋण वितरण करायें। इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताई बर्दाश्त न करें, क्योंकि 1 फरवरी को मुख्यमंत्री विशेषकर स्ट्री वेण्डर शहरी एवं ग्रामीण योजनाओं की समीक्षा करेंगे। इस समीक्षा में जिला टॉप फाइब में होना चाहिये। यह निर्देश मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री रोशन कुमार सिंह ने शुक्रवार को डीएलसीसी की बैठक में समस्त बैंक प्रबंधकों को दिये। इस अवसर पर एलडीएम श्री कर्नल कुमार, जीएमडीआईसी, नगरीय निकाय, नगर निगम, मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के प्रबंधक सहित एसबीआई के अलावा अन्य बैंको के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
    जिला सीईओ श्री रोशन कुमार सिंह ने कहा है कि स्ट्रीट वेण्डर स्क्रीम के तहत जिले की 478 ग्राम पंचायतों में शासन द्वारा 10 हजार 516 का लक्ष्य प्राप्त हुआ था, जिसमें ऑनलाइन पंजीयन संख्या 26 हजार 553 थी। पंचायत स्तर से सत्यापन हेतु लंबित 2 हजार 66, पंचायत से जनपद स्तर तक प्रेषित किये गये आवेदनों में 24 हजार 489, जिसमें अपात्र प्रकरणों की संख्या 4 हजार 277 पाई गई थी। जनपद स्तर पर सत्यापन हेतु लंबित आवेदन 945, सत्यापित सर्टिफिकेट की संख्या 19 हजार 10, बैंको से वापस प्राप्त संख्या 253, जनपद स्तर पर लंबित सत्यापित प्रकरण 535, बैंको को प्रेेषित प्रकरण 18 हजार 475 किये गये। जिनमें बैंको द्वारा 4 हजार 39 प्रकरण स्वीकृत किये गये है, इनमें से 3 हजार 164 बैंको द्वारा हितग्राहियों को वितरण किये गये है। बैंको द्वारा 5 हजार 732 आवेदनों को किन्हीं कारण निरस्त कर दिया गया है, जबकि बैंको में लंबित प्रकरण 8 हजार 705 अभी भी है। यह स्थिति ठीक नहीं है, बैंक इस कार्य को प्राथमिकता दें। इस कार्य में जो बैंक लापरवाही बरतेंगे, उनके वरिष्ठों को कलेक्टर के माध्यम से पत्र लिखा जावेगा। मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाली योजनाओं में बैंक प्राथमिकता से योजनाओं में डिस्पर्स कराना सुनिश्चित करें।
    जिला सीईओ श्री कुमार सिंह ने कहा कि जिले में स्व-सहायता समूहों के गठन व उनके बैंक खाता खोलने की प्रगति कम है। एक अप्रैल से जनवरी 2021 तक 2 हजार 292  का आंतरिक लक्ष्य था, किन्तु एक अप्रैल से जनवरी 2021 तक नेशनल पोर्टल लक्ष्य 1500 तथा प्रगति 585 पर है। सभी बैंक प्राथमिकता के साथ समूह के खाते खोंले। शासन की योजनाओं का लाभ समूहों को मिल सके। 



मृतक परिजन के लिये लगाये गये नोडल आफिसर पटेल ने अपने विभाग से राशि एकत्रित कर 21000 हजार से अधिक की राशि सौंपी

विगत 10 जनवरी से 14 जनवरी तक जहरीली शराब से 24 लोंगो की मृत्यु होने पर उन परिजन को आर्थिक लाभ उपलब्ध कराने के लिये कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने एक-एक अधिकारियों को नोडल के रूप में नियुक्त किया था, जिसमें ग्राम मानपुर-पृथ्वी में धु्रव सिंह पुत्र महाराज सिंह मृतक के परिजनों को आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिये उप संचालक कृषि श्री पीसी पटेल को नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था। श्री पीसी पटेल द्वारा सह्रदयताः दिखाते हुये अपने विभाग से राशि एकत्रित कर 21 हजार 100 रूपये की नगर राशि मृतक के परिजन को सहायता प्रदान की। 

कल्याणी पुष्पा गुर्जर को मिली 15 हजार रूपये की सहायता

पाठक का पुरा तहसील व जिला मुरैना निवासी कल्याणी श्रीमती पुष्पा गुर्जर पत्नि स्व. श्री वीरेन्द्र सिंह गुर्जर को शासन द्वारा 15 हजार रूपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई है।       
    यहां बता दें कि सहायता राशि श्रीमती पुष्पा गुर्जर को उनके पति स्व. श्री वीरेन्द्र सिंह गुर्जर की सड़क दुर्घटना में घायल होने के पश्चात् ग्वालियर चिकित्सालय में उपचार के दौरान हुई मृत्यु पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मुरैना के प्रतिवेदन पर कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेेयन द्वारा स्वीकृत की गई है।               
    कल्याणी श्रीमती पुष्पा गुर्जर ने बताया कि उसके पति स्व. श्री वीरेन्द्र सिंह गुर्जर 2 जुलाई 2020 को सुबह अपने पाठक का पुरा जतावर से मुरैना आ रहे थे, सुबह 9 बजे के करीब सिकरोदा नहर पर मोटर सायकिल को कार क्रमांक यूपी-70-बीएफ-2565 के चालक ने लापरवाही से चलाते हुये टक्कर मार दी, इससे वीरेन्द्र सिंह को काफी गंभीर चोट आई जिसे ग्वालियर ईलाज हेतु ले जाते समय मृत्यु हो गई। श्रीमती पुष्पा गुर्जर ने बताया कि पति की भरपाई तो नहीं हो सकती, किन्तु उनकी मृत्यु के पश्चात् मुझे राज्य शासन से आर्थिक सहायता के रूप में 15 हजार रूपये मिले है, जो मेरी घर-गृहस्थी के काम आयेंगे। मैं सरकार को धन्यवाद देती हूं।  
 

संभाग की 1150 ग्राम पंचायतों की जी.पी.डी.पी. तैयार कर ऑनलाइन अपलोड की जाये - कमिश्नर ग्वालियर चंबल

चंबल संभाग की 1150 ग्राम पंचायतों की जी.पी.डी.पी. (ग्राम पंचायत विकास योजना) को शीघ्र तैयार कर ऑनलाइन अपलोड की जाये। यह निर्देश चंबल-ग्वालियर संभाग के कमिश्नर श्री आशीष सक्सेना ने शुक्रवार को गूगल मीट से चंबल संभाग के तीनों जिलों की समीक्षा के दौरान कलेक्टरों को दिये। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकता वाली योजनाओं में भिण्ड जिले की प्रगति संतोषजनक नहीं होने, अधिकांश योजनाओं में ग्रेडिंग ठीक नहीं होने पर कमिश्नर ने नाराजगी व्यक्त की।       
    इस गूगल बैठक का उद्देश्य बुधवार को मंत्रालय भोपाल में ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया, ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव द्वारा ग्रामीण विकास की राज्य स्तरीय संयुक्त बैठक में अपेक्षा के अनुरूप उपलब्धी न होने के कारण चंबल-ग्वालियर संभाग के कमिश्नर द्वारा गूगल मीट के माध्यम से समीक्षा की। 
    बैठक के प्रारंभ में कमिश्नर श्री आशीष सक्सेना ने जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने एवं माफियाओं के विरूद्ध सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने एन्टी माफिया अभियान चलाने के निर्देश दिए और कहा कि जिस सरकारी जमीन पर किसी माफिया का अवैध कब्जा है तो उसे जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन तत्काल हटाए। साथ ही ऐसे माफिया के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जावे। इसी प्रकार खाद्य सामग्री में मिलावट करने वालों के खिलाफ अभियान चलाया जाए और ऐसे लोगों को जेल भेजने की कार्रवाई की जाए। कमिश्नर श्री सक्सेना ने महिला एवं बालिका अपराध के आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि अवैध शराब विक्रय पूर्णतः प्रतिबंध लगाकर शराब बनाने वालों पर आबकारी विभाग द्वारा कार्यवाही निरंतर जारी रखे। 
    कमिश्नर श्री आशीष सक्सेना ने पीएम स्वनिधि योजना के अंतर्गत दिये गये लक्ष्यों की चंबल एवं ग्वालियर संभाग के जिलो की जिलेवार समीक्षा की। उन्होने सभी कलेक्टर एवं संभागीय अधिकारियों से कहा कि समर्थन मूल्य पर खरीदी का किसानों को भुगतान करना सुनिश्चित किया जाए। साथ ही खरीदे गए माल का यथा समय परिवहन किया जाए। किसान कल्याण योजनाओं के संबंध में उन्होंने कहा कि वर्तमान में रबी सीजन चल रहा है। इसलिये किसानों को कृषि योजनाओं में तत्काल सहायता पहुँचाई जाए। सभी अधिकारी खाद वितरण पर विशेष निगरानी रखें। साथ ही उन्होने कहा कि अपने जिलों में अमानक वस्तुओं के आने-जाने पर प्रतिबंध लगाने के लिए चैक पोस्ट अवश्य लगाये जावें। 
    राज्य शासन द्वारा संचालित मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना, नवीन पात्रता पर्चीधारी हितग्राहियों को खाद्यान वितरण एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली, गौ सेवा योजना, नगरीय एवं ग्राम पंचायत क्षेत्र के विकास की कार्य योजना, जल जीवन मिशन के अतंर्गत नलजल योजना, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, राजस्व वसूली, आयुष्मान भारत कार्ड योजना सहित वन अधिकार अधिनियम में पट्टे, समर्थन मूल्य पर किसानों को भुगतान एवं आगामी उपार्जन के कार्य एवं अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी प्राप्त की। और कहा कि आगामी 01 फरवरी 2021 को मुख्यमंत्री जी अध्यक्षता में प्रदेश स्तरीय कलेक्टर, कमिश्नर्स की वीडियो कॉर्फेन्स आयोजित की जावेगी। इस वीडियो कॉर्फेन्सिंग के लिए सभी जिले के कलेक्टर निर्धारित किये गये बिन्दुओं की मय जानकारी के व्ही.सी. में उपस्थित रहना सुनिश्चित करें। 
    चंबल कमिश्नर ने ग्रामीण विकास विभाग द्वारा उनकी ग्रेडिंग और ग्रेडिंग के पैरामीटर के बिन्दुओं के साथ समीक्षा करते हुये कहा कि 15वें वित्त से प्राप्त होने वाली राशि से ग्राम पंचायतों में अद्योसंरचना के निर्माण की विकास योजना तैयार की जाना है, यह मुरैना जिले की 478, भिण्ड जिले की 447 और श्योपुर जिले की 225 ग्राम पंचायतों में शीघ्र तैयार होना है।
    विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के दौरान मुरैना कलेक्टर श्री बी.कार्तिकेयन ने अवगत कराया कि बाजरा का पुराना भुगतान कर दिया गया है। 238 किसानों का निराकरण अगले दो दिवस में कर दिया जायेगा। कलेक्टर ने प्रधानमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना की जानकारी से अवगत कराते हुये कहा कि जिले की 478 ग्राम पंचायतों को 10 हजार 516 पथ विक्रेताओं को लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, इसके विरूद्ध 18 हजार 472 प्रकरण तैयार कर बैंको को भेजे है, इनमें से 3 हजार 853 प्रकरणों में बैंको ने स्वीकृति दी है। 2 हजार 868 प्रकरणों में ऋण भुगतान किये जा चुके है। कमिश्नर ने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ग्रामीण एवं शहरी पथ विक्रेता योजना में एक सप्ताह के अंदर प्रगति लायें। राशन वितरण की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि पी.डी.एस. दुकानदारों के हड़ताल पर चले जाने के कारण जौरा में राशन का वितरण कम हुआ है। एक सप्ताह के अंदर इस कार्य में प्रगति आ जायेगी। आजीविका मिशन की जानकारी देते हुये कलेक्टर ने अवगत कराया कि 11 करोड़ से अधिक का भुगतान किया जा चुका है। 9 करोड़ रूपये का भुगतान कैम्प लगाकर कर करने की योजना है। कलेक्टर ने मौके पर 30 जनवरी को मुख्यमंत्री के प्रस्तावित मुरैना आगमन की तैयारियों की जानकारी से भी कमिश्नर को अवगत कराया। कलेक्टर ने गौशालाओं की उपलब्धियां बताते हुये कहा कि 30 गौशालाओं में 27 गौशालायें पूर्ण हो चुकंी है। रोजगार मेला की जानकारी देते हुये कलेक्टर ने बताया कि मेला से 870 बेरोजगार युवाओं को जोड़ा गया था। मौके पर उन्होंने मनरेगा, जल जीवन मिशन और आयुष्मान कार्डो की प्रगति से भी अवगत कराया।    
    भिण्ड की समीक्षा के दौरान कमिश्नर ने कलेक्टर श्री वीरेन्द्र सिंह रावत को निर्देश दिए की भू-माफिया, शराब माफिया के खिलाफ कार्यवाही के साथ एफआईआर करायें । उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा की  शहरी एवं नगरीय पथ विक्रेता योजना अंतर्गत लाभ प्रदान करने में भिण्ड प्रदेश में अंतिम 5 जिलों में है। उन्होंने कलेक्टर को योजनाओं अंतर्गत प्रगति लाकर लक्ष्य प्राप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने मनरेगा, सीएम हेल्पलाइन आदि योजनाओं की भी समीक्षा की जिनमे भी भिण्ड प्रदेश में बॉटम जिलों में है। इस पर भी उन्होंने नाराजगी जाहिर की।
    श्योपुर कलेक्टर श्री राकेश श्रीवास्तव ने समीक्षा के दौरान अवगत कराया कि पीएम स्वनिधि योजना में 3065 लक्ष्य के विरूद्ध 2360 प्रकरण प्रेषित किये है। उनमें से 1528 प्रकरण स्वीकृत किये जा चुके है। शेष लक्ष्यों को समय सीमा में पूर्ण किया जावेगा। इसी प्रकार उन्होने सीएम ग्रामीण पथ विक्रेता योजना के अंतर्गत बताया कि 26600 रजिस्टेªशन जिले में अभी तक किये जा चुके है। इनमें से लगभग 07 हजार प्रकरण बैंको में पहुंचा दिये है। सभी हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए रणनीति बनाई जा चुकी है। साथ ही नवीन पात्रता पर्ची का भी 66 प्रतिशत वितरण किया जा चुका है।  
    उन्होने कहा कि राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत प्रदेश में श्योपुर जिला लक्ष्य प्राप्ति में दूसरे स्थान पर है। श्योपुर ने 94 प्रतिशत लक्ष्य अभी तक प्राप्त कर चुका है। इस पर आयुक्त श्री सक्सेना में जिला अधिकारियों को बधाई दी। कलेक्टर ने एक जिला एक उत्पाद के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि अमरूद की पैदावार और ब्राडिंग का कार्य किया जा रहा है। अमरूद की फसल को बढावा देने के लिए (थाई अमरूद) व्यापक पैमाने पर लगाये जा रहे है। उन्होने राजस्व वसूली के संबंध में बताया कि राजस्व वसूली लगभग 67 प्रतिशत तक की जा चुकी है। शेष लक्ष्य को भी समय सीमा में पूर्ण कर लिया जावेगा। उन्होने स्वामित्व योजना के अंतर्गत बताया कि 10 गांव स्वामित्व योजना अंतर्गत तैयार किये जा चुके है।
    इसी प्रकार गूगल मीट के दौरान कलेक्टर ने बताया कि वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत वन अधिकार पट्टो का 2858 व्यक्तिगत एवं 391 सामुदायिक पट्टे कुल 3249 पट्टो में से 3245 पट्टों का वितरण किया जा चुका है। शेष पट्टों पर कार्यवाही जारी है। रबी उपार्जन के संबंध में जिले में किसी भी प्रकार का कोई भी भुगतान शेष नही है। आगामी उपार्जन के लिए 38 केन्द्र निर्धारित किये गये है।  

सपने की तमन्ना : रोजगार मेले में नौकरी पाकर परिवार में खुशियों की लहर दौड़ी

 

रोजगार, जीविकोपार्जन का सर्वाधिक महत्वपूर्ण घटक है। इसी उद्देश्य को पूर्ण करने के लिये राज्य शासन द्वारा आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के अंतर्गत प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मेलों के माध्यम से अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध करा कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। इस रोजगार मेले में मुझे भी नौकरी मिली। नौकरी मिलने से मेरे सपनों की तमन्ना आज पूर्ण हो गई है और परिवार में खुशियों की लहर दौड़ गई है। यह बात अपने शब्दों में गढ़ीखेरा निवासी श्यामू पुत्र श्रीनिवास ने नियुक्ति पत्र प्राप्त करते समय खुशियां जाहिर करते समय कही।
गढ़ीखेरा निवासी श्यामू पुत्र श्रीनिवास ने बताया कि कक्षा 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आईटीआई डिप्लोमा भी प्राप्त किया था, किन्तु नौकरी मिलने का कोसो दूर नंबर नहीं था। मन में यही ख्याल आते थे कि नौकरी मिलेगी तो माता-पिता की अच्छी सेवा करूंगा। परिवार में इतनी ज्यादा जमीन नहीं थी कि हम दो भाई उससे गुजारा कर सकते। यही प्रकार की चिंता आये दिन दिमाग में दौड़ती रहती थी। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार 14 जनवरी को जिला स्तरीय रोजगार मेले का आयोजन शासकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज मुरैना में किया गया। जिसमें 14 कंपनियों ने 242 युवाओं का चयन किया। जिसमें मेरा भी नाम गिन्नी फ्लाईमेन्ट कंपनी में मशीन ऑपरेटर के लिये चयन किया गया। 19 जनवरी को मुझे फोन पर सूचना दी गई कि जिला स्तरीय कार्यक्रम में 20 जनवरी को कलेक्टर के हस्ते नियुक्ति पत्र सभी को प्रदान होंगे और वहीं से कलेक्टर बस में 59 लोंगो को गिन्नी फ्लाईमेन्ट गुजरात के लिये रवाना करेंगे। मेरे मन में खुशी दोगुनी हो चुकी थी, मैंने अपने माता-पिता को यह बात बताई तो पिता का भी सीना खुशी के मारे दोगुना हो गया और कहने लगे कि मुख्यमंत्री ने आखिर हमाये मौड़ा की भी सुनली और उसकी नौकरी लगई है। आज वह ज्वइंनिंग करने के लिये गुजरात जा रहा है। अब हमाये बेटा की तमन्ना पूरी हो गई है।

सामाजिक अंकक्षेण कार्य हेतु प्रतिभागियों का चिन्हांकन प्रक्रिया संपादन करने के लिये प्रत्येक ब्लॉक में अधिकारी किये तैनात

मध्यप्रदेश स्टेट सामाजिक संपरीक्षा समिति के आदेशानुसार प्रतिभागियों का चिन्हांकन कार्य प्रक्रिया का संपादन किया जाना है। इसके लिये मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री रोशन कुमार सिंह ने ब्लॉकवार अधिकारियों को आदेश जारी किये है। जिसमें जनपद पंचायत अम्बाह के लिये एपीओ श्री सतेन्द्र माहौर और कैशियर श्री सतेन्द्र राठौर, जनपद पंचायत पोरसा के लिये एपीओ श्री राजेश गोयल, कैशियर श्री शंकरलाल बेघेरिया, जनपद पंचायत मुरैना के लिये एपीओ श्री रवीन्द्र सिंह तोमर, कैशियर श्री पवन चौरसिया को नियुक्त किया है।
    इसी प्रकार जनपद पंचायत जौरा के लिये एपीओ श्री राजीव भदौरिया, सहायक मानचित्रकार श्री रामकिशन आर्य, जनपद पंचायत कैलारस के लिये एपीओ श्री अरूण श्रीवास्तव, कैशियर श्री ब्रजेश आर्य, जनपद पंचायत पहाडगढ़ के लिये प्रभारी एपीओ श्री अशोक जादौन और सहायक मानचित्रकार श्री मनोज धिकोनिया, जनपद पंचायत सबलगढ़ के लिये प्रभारी एपीओ श्री सतेन्द्र यादव और कैशियर श्री मनोज गर्ग को नियुक्त किया है। ये सभी अधिकारी निर्देशों के तहत बिन्दुवार कार्य को प्राथमिकता देंगे। 
 

कोविड-19 के उपचार दर रिशेप्शन काउन्टर पर प्रदर्शित करें, हाई कोर्ट के आदेश का पालन करें वरना ......

स्वास्थ्य आयुक्त ने प्रदेश के सभी क्लीनिक और नर्सिंग होम को कोविड-19 के उपचार की निर्धारित की गई दरों को रिसेप्शन काउन्टर पर प्रदर्शित करने के निर्देश दिए है। मरीजों और परिजनों द्वारा दरों की मांग करने पर उन्हें भी उपचार की दरें उपलब्ध कराई जाए। 
    उच्च न्यायालय जबलपुर द्वारा नवम्बर 2020 में कोविड-19 की निर्धारित उपचार दरों को क्लीनिक और नर्सिंग होम में रिसेप्शन काउन्टर पर प्रदर्शित करने के संबंध में पारित आदेश के अनुक्रम में निर्देश जारी किए गये है। स्वास्थ्य संचालक श्री बसंत कुर्रे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश क्लीनिक्स इस्टाविलिशमेंट और नर्सिंग होम संबंधी (उपचार गृहों एवं रोगोंपचार संबंधी) रजिस्ट्रीकरण एवं अनुज्ञापन नियम-1997 की अनुसूची-2 के खण्ड (5) और 5(1)के प्रावधानों के तहत पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है। इस मामले में यह भी स्पष्ट किया गया है कि क्लीनिक एवं नर्सिंग होम जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कोविड-19 की निर्धारित दरों की भेजी गई सूची में दर्शायी दरों से 40 प्रतिशत से अधिक प्राप्त नहीं कर सकेगें। उपचार की निर्धारित दरों से 40 प्रतिशत से अधिक राशि लिए जाने की जानकारी प्राप्त होती है तो इसे जिला प्रशासन और उच्च न्यायालय को आवश्यक कार्यवाही के लिए भी भेजा जाएगा।